Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » भड़ास (page 4)

भड़ास

दंभ और पाखण्ड का करना होगा अंत : महथा ब्रज भूषण सिन्हा

बडौदा बैठक की असंगत कार्यों से असहज प्रबुद्ध समाज सकते में है. उच्च न्यायलय के “स्टेटस को” पर चल रहे गुट की निरंकुशता ने समाज को अपने ठोकर पर रख अपशब्दों को अपना मन्त्र बना लेने के बाद प्रबुद्ध वर्ग अब आंदोलित है. दरअसल महासभा के उद्देश्य, कार्य, नीतियों एवं सामाजिक ताने-बाने से अनभिज्ञ व्यक्तियों ने इसका इस्तेमाल अपने महत्वाकांक्षाओं ...

Read More »

सारंग को भी देखा है, एके को भी देखा है पारिया को भी देख रहे है,पारिया गुट कुछ शर्म हो तो पीड़ित परिवार को पैसा दिलवा दो : लखनऊ से संजय श्रीवास्तव की पुकार

कायस्थ खबर के द्वारा पता चला की फैजाबाद में किसी कायस्थ को अखिल भारतीय कायस्थ महासभा द्वारा ₹50000 देने का घोषणा किया गया था ।यह बहुत दुखद है की लगभग साल बीतने जा रहा है और पीड़ित परिवार को एक पैसा भी नहीं दिया गया ।सबसे ज्यादा निंदा की बात यह है ।इस काम के लिए पदाधिकारियों ने लाखों रुपए ...

Read More »

रविवार विशेष : वर्तमान सन्दर्भ पर महथा ब्रज भूषण सिन्हा की नजर- अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के विवादों पर निष्पक्ष विश्लेषण , जानिये दोषी कौन ?

विगत कुछ दिनों से अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के ऊपर जो चर्चाएँ चल रही है, उस सन्दर्भ में समाज के सभी बंधुओं को अवगत कराने के उद्देश्य से यह लिखा जा रहा है. समय- समय पर चर्चा में सभी अपने-अपने पक्ष को सही ठहरा रहे हैं, जो स्वाभाविक है. आप निष्पक्ष विश्लेषण करेंगे तभी सही-गलत का निष्कर्ष निकाल पायेंगे. पर ...

Read More »

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा का बैधानिक विश्लेषण – मनीष श्रीवास्तव

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा का बैधानिक विश्लेषण।। 1। विधिक चुनाव 2010-2015 के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष  श्री एके श्रीवास्तव और राष्ट्रीय महामंत्री डॉ शरत सक्सेना जी चुने गए। 2। उस समय के 2010-2015की कमिटी में राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष परिया जी और राष्ट्रीय कार्यवाहक सचिव विश्वमोहन जी को जनवरी 2013को ही कार्यालय 11बी दारुल शफा को कब्जाने और सन्गठन विरोधी गतिविधियों के ...

Read More »

पारिया गुट पर सवाल , जब कोर्ट में स्टेट्स को है तो भाइयो ये कैसा राष्ट्रीय अधिवेशन , कैसा चन्दा, कैसे राष्ट्रीय पदाधिकारी सब कुछ गोल माल है – मनीष श्रीवास्तव

सभी से अनुरोध।abkm को चाहे कोई भी प्रचार करे, क्लेम करे, या अपना कहे।लेकिन वास्तविक सच्चाई सिर्फ ये है जो कोर्ट की हमारी पेटिशन के द्वारा ही। 1.श्री एके श्रीवास्तव राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं डॉक्टर शरत जी राष्ट्रीय महामंत्री है 2010-2015 की कमिटी ही बैलिड है। 2। इसी दरम्यान 2013 मई में हमारे द्वारा 60 बी दारुल सफा का नव आवंटन करना ...

Read More »

कायस्थ संगठनो में राजनीती वाहर कम घर में ज्यादा , इसीलिए राजनैतिक गलियारों में कायस्थों को कोई तरजीह नहीं देता है : संजय श्रीवास्तव नाटी

राजनीती वाहर कम घर में ज्यादा विगत कुछ दिनों से समाज में राजनीती करने का कुछ फैशन हो गया गया है! दुसरे को गलत और अपने को सही बता रहे है! चुनावी बेला की तरह आरोपो प्रत्यारोपो का दौर चल रहा है! कोई किसी को फर्जी बता रहा है तो कोई किसी को कह रहा है आपको जानकारी नहीं है ...

Read More »

आयोजक महोदय द्वारा ” अपनी धर्म पत्नी को ही “.महिमामंडित ” करना , संकीर्ण , विचारधारा का परिचय मात्र है- ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव

सत्य परंतु कडुआ विचार :---- अखिल भारतीय कायस्थ महा सभा इस राष्ट्र की सबसे पुरानी ,पंजीकृत , जातीय संगठन , "एक वट वृक्ष " के स्वरूप में बहुत ही आदरणीय , और सम्मान वर्धक , संस्था के रुप में विद्यमान हैं , हम ही नहीँ सम्पूर्ण समाज यह जानती हैं की " बट वृक्ष की रूह नीचे उतर कर ज़मीन ...

Read More »

अभाकाम की बडौदा बैठक- महासभा पर प्रश्न? – महथा ब्रज भूषण सिन्हा

बहु प्रतीक्षित बडौदा बैठक का समापन हो गया. जो बातें हुई उसमे प्रमुख है- गुजरात के कायस्थों का उत्साह के साथ भागीदारी, संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष का अपने ही संगठन से मोह भंग होना, संगठन के अन्य प्रमुख पदाधिकारियों का उपस्थित न होना, मुख्य अतिथि के रूप में शत्रुघ्न सिन्हा जी एवं सुबोध कान्त सहाय जी का सम्बोधन. मेरा निजी ...

Read More »

भगवान श्री चित्रगुप्त के अपमान को लेकर अक्सर विवाद करने वाले वाहिनी प्रमुख के महासम्मेलन में साईं के भजनों का बजना : आखिर क्या सन्देश देना चाहते है वाहिनी प्रमुख समाज को ? – ललित सक्सेना

आखिर क्या सन्देश देना चाहते है वाहिनी प्रमुख समाज को भगवान श्री चित्रगुप्त के अपमान को लेकर अक्सर विवाद करने वाले वाहिनी प्रमुख के महासम्मेलन में साईं के भजनों का बजना और कायस्थ समाज के लोगो का चुप रहना  आखिर क्या हो गया समाज के उन कद्दावर युवाओ को आखिर वाहिनी का मतलब है सेना और कायस्थ वाहिनी हुई कायस्थ ...

Read More »

बड़ा सवाल : उत्तर प्रदेश राजनीति में कायस्थ हाशिए पर क्यों है? दीपक श्रीवास्तव

उत्तर प्रदेश राजनीति में कायस्थ हाशिए पर क्यों है? ..... पश्चिम बंगाल / महाराष्ट्र / उड़िसा की राजनीति में कायस्थों का दबदबा कायम है | उत्तर प्रदेश व विहार | मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ तथा झारवण्ड में भारी तदाद में होने के बाद भी राजनैतिक उपेक्षित हैं | क्यों? 1-कायस्थ राजनीति की अपेक्षा नौकरी को तरजीह दे रहा है। 2-कायस्थों ...

Read More »