Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल (page 10)

चौपाल

सोनू निगम को कायस्थयुवान के राष्ट्रीय संयोजक कवि स्वप्निल का समर्थन करता हुआ खुला पत्र

आत्मीय सोनू भाई, मै ये नही कहता की आपने ये क्या कह दिया, ये भी नही पूछूँगा की क्यों कह दिया पर इतना जरूर कहना चाहता हूँ की कहाँ कह दिया? एक ऐसे देश में जहाँ सियासत भी मजहबी कट्टरता में निवास करने लगी है, और इस कट्टरता का दमन करने की बजाय जहाँ की सियासत मजहबी तुष्टिकरण में लगी ...

Read More »

रविवार विशेष : हम मदारी हैं??? अच्छा अच्छा चल रे मुन्नू नाच तो जरा….. हाँ ऐसे ही…. शाबाश… हाँ लगा ठुमका-कवि स्वप्निल

साहेबान,कद्रदान, भाई जान आईये खेल दिखाता हूँ, आईये हजरात आईये गुदगुदाता हूँ, हँसाता हूँ। आईये आईये घेरा बनाइये और देखिये इस मदारी का कमाल। कैसे नाचेगा बन्दर, कैसे करतब दिखायेगा भालू,कैसे बिल्ली खम्भा नोचेगी, सब दिखाऊंगा। हाँ जी साहब! क्या बन्दर का नाच??? अच्छा अच्छा चल रे मुन्नू नाच तो जरा..... हाँ ऐसे ही.... शाबाश... हाँ लगा ठुमका.... लाओ जी ...

Read More »

व्हाट्सएप ग्रुपों को छोड़ना धीरन्द्रश्रीवास्तव की हताशा या कायस्थ वृन्द को नयी दिशा देने की कोशिश है

कायस्थखबर डेस्क I सोशल मीडिया में एक वक्त ऐसा भी आता है जब आप लगातार सैकड़ो ग्रुपों में होने के बाद उन्हें छोड़ना शुरू कर देते है या उनसे उदासीन होना शुरू कर देते है I ये एक स्वाभविक स्थिति है और इसकी जब में हर एक सेलिब्रिटी राजनेता , समाज सेवी एक दिन आता है I दरअसल ये सोशल ...

Read More »

संगठनों के हुल्लड़ मचाने वाले लोग को चिन्हित करने का समय आ गया है – श्वेता रश्मि

श्वेता रश्मि I भगवान चित्रगुप्त का स्थान हिन्दुओं में कर्म और फल का लेखा जोखा सहेजने वाले और न्यायाधीश के तौर पर स्थापित है। स्वाभाविक है कि जब भगवान चित्रगुप्त को पूरी दुनिया में किसी ना किसी रूप में याद किया जाता है तो उनके अपने वंशजों में उनकी भूमिका परिवार के सबसे बडे मुखिया के रूप में कायम है, ...

Read More »

इस पावन माह में फिर इतिहास दुहराने जा रहा है. एक नव हनुमान सूरज को निगलने जा रहा है : mbb सिन्हा

जय लाला, जय गोपाला धरती के तापमान के साथ हमारा कायस्थ समाज का तापमान भी बढ़ने लगा है. संगठनो की भीड़ में एक और कायस्थ संगठन “कायस्थ युवान” का उदय हो गया. यह माह राम और हनुमान जी के जन्मोत्सव का है. इस पावन माह में हमें लगा कि फिर इतिहास दुहराने जा रहा है. एक नव हनुमान सूरज को ...

Read More »

क्या अपने समाज व साथियो को अपमानित/विघटित करने के लिये हमने ग्रुप बनाया है ? – धीरेन्द्र श्रीवास्तव

साथियो, "व्हाट्सेप" अपनी धनात्मक बातो/समस्यायों/उपलब्धियो को ग्रुप सदस्यो तक पहुचाने व उनकी बाते जानने का अच्छा माध्यम है। दूसरे समाज व प्रोफेशनल्स के ग्रुपो में सकारात्मक बाते होती रहती है।हमारा दुर्भाग्य है कि हमारे समाज के हजारो ग्रुप इस मामले में फेल हुये है। आश्चर्यजनक है कि ग्रुप एडमिन व अन्य सदस्य समस्त नकारात्मक बातो पर न केवल मौन रहते ...

Read More »

कायस्थ बोलता है : वाह कायस्थयुवान, जो हम न कर सके ,ये युवा करके दिखायेंगे ! धीरेन्द्र श्रीवास्तव

कायस्थ खबर "कायस्थ बोलता है" के नाम से  एक नया कालम शुरू कर रहा है जिसमे लोगो के टेस्टीमोनियलस उन लोगो के बारे में दिए जायेंगे जो परदे के पीछे रह कर काम कर रहे है I ये एक नयी कोशिश है समाज के चेहरों को आगे लाने का , मकसद है समाज में सहयोग की भावना को सामने लाने ...

Read More »

कायस्थ बोलता है : मिलिए बुलंदशहर की सामाजिक कार्यकर्ता अलका भटनागर से , जो कायस्थ समाज के लिए हमेशा तैयार हैं

कायस्थ खबर "कायस्थ बोलता है" के नाम से  एक नया कालम शुरू कर रहा है जिसमे लोगो के टेस्टीमोनियलस उन लोगो के बारे में दिए जायेंगे जो परदे के पीछे रह कर काम कर रहे है I ये एक नयी कोशिश है समाज के चेहरों को आगे लाने का , मकसद है समाज में सहयोग की भावना को सामने लाने ...

Read More »

वर्षों से भगवान “चित्रगुप्त प्रकट उत्सव” सभी जगह “गंगा सप्तमी” पर ही मनाया जारहा हे…..फिर ये “चैत्र की पूर्णिमा” केसे : राजेश निगम

"भगवान चित्रगुप्त प्रकट उत्सव चैत्र की पूर्णिमा या गंगा सप्तमी ....."?? प्रमाणित कीजिए ....?? हम खुद असमंजस में हे...की . वास्तव मे ११ अप्रैल को या २ मई को भगवान चित्रगुप्त प्रकट उत्सव हे....?? आखिर सही क्या है...?? "भगवान चित्रगुप्त उत्सव" तो हम रोज मनाये क्या दिक्कत है..... वर्षों से भगवान "चित्रगुप्त प्रकट उत्सव" सभी जगह "गंगा सत्मी" पर ही ...

Read More »

प्रभु की अद्भुत महिमा देखी !! लोगो के हृदय में आस्था जागी !! – डॉ ज्योति श्रीवास्तव

प्रभु की अद्भुत महिमा देखी !! लोगो हृदय में आस्था जागी !! यदि मैं आप सबसे कहूँ कि एक गैर कायस्थ परिवार ने चित्रगुप्त भगवान की महत्ता को स्वीकार कर संपूर्ण विधि सहित नित्य पूजन और आरती करना आरंभ किया है तो संभवतः सहज आपको विश्वास नहीं होगा.... जी हाँ!! ये सत्य है!! देहरादून, उत्तराखण्ड में पहली बार नवंबर, १६-१८,२०१६ ...

Read More »