Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल (page 20)

चौपाल

शर्म करो आपस में तलवार भांजने वाले भगवान चित्रगुप्त के वंशजों, शर्म करो – संजीव सिन्हा

प्रिय साथियों को हममें से बहुत सारे लोग इस कहानी को जानते है, पर संदर्भ है तो पुन: लिख रहा हूँ। जंगल का राजा ने एक बार मजा लेने के लिए कुत्ते और गदहे को बुलाकर कहा कि एक निर्धारित जगह से मेरे सिंहासन तक की दौड तुम दोनों में जो पहले पूरी करेगा, उसे एक दिन के लिए सिंघासन ...

Read More »

विवेक बाड्मेरी जी ! विगत तीन दिनों से आप का रोल मुझे शर्मसार कर रहा हैं ! , अब परदा उठने वाला हैं , इसी के वी पी के अंदर से ही पोल खुलेगी ! – ब्रजेश श्रीवास्तव

विवेक बाड्मेरी जी ! बेटा आप को जब फैजाबाद में भगवान चित्रगुप्त जी के मंदिर पर मत्था टेकते देखा तो ऐसा लगा जैसे कोई परम कायस्थ भक्त मुझे मिल गया , मै इस नई व समर्पित शख्सियत से मिलने रात्रि में स्टेशन भी गया लेकिन विगत तीन दिनों से आप का रोल मुझे शर्मसार कर रहा हैं ! ए वेद प्रकाश के ...

Read More »

“आभाकाम” समय आ गया है बदलाव का – आदित्य श्रीवास्तव

सभी आभाकाम ग्रुप वाले एक दुसरे को पद लोलुप बताते है और अपने को समाज का हितैशी ।पर यह अभी तक स्पष्ट नही हो पाया है की कौन समाज हीतैषी है अगर आप सभी समाज हीतैषी है तो आप सब समाज के सामने एक जगह आकर अपने-2 पद क्यो नही त्याग देते चुनाव प्रक्रिया हम सब कायस्थ मिलके दुबारा कर ...

Read More »

सर्वानंद जी खबर लाये है : एक रहिन ईर, एक रहिन बीर, एक रहिन फत्ते , एक रहिन हम….

सर्वज्ञानी सर्वानंद जी आज कल होली के मूड में है तो होली के फाग ही गा रहे है आप ने बच्चन जी की एक पुरानी कविता सुनी होगी एक रहिन ईर, एक रहिन बीर, एक रहिन फत्ते , एक रहिन हम, एक रहिन ईर, एक रहिन बीर, एक रहिन फत्ते , एक रहिन हम। पर भांग तनिक ज्यदा हो गयी ...

Read More »

बहूत ही शर्म की बात है कि कायस्थ ही कायस्थ का दुश्मन बनता जा रहा है – विशाल भटनागर

बहूत ही शर्म की बात है कि कायस्थ ही कायस्थ का दुश्मन बनता जा रहा है अलग अलग तरह की बात करके अगर सच मै भारतीय कायस्थ सभा या आज के लीडर ने कुछ किया होता तो आज हम यू बिखरे न होता रोजगार के लिए मोहताज न होते मगर बहूत दुख है कि आज सभलने की जगह हम लड ...

Read More »

नामो का खुलासा आदरणीय MBB सिन्हा जी स्वयं कर देंगे – धीरेन्द्र श्रीवास्तव

साथियो आदरणीय एम०बी०बी० सिन्हा बौद्धिक व्यक्तित्व वाले कर्मठ मित्र है।मैं उनकी बौद्धिकता का  कायल रहा हू।प्रारम्भ मे एक बार उनसे अनुरोध अवश्य किया था कि वे कायस्थवृन्द को दिशा दे।श्री एम०बी० ने मुझे स्पष्ठ मना कर दिया था एवं पटना मे मुझसे मुलाकात के दौरान भी खुलकर कहा था कि "कायस्थवृन्द" मे मेरे दो सहयोगी उन्हे बिल्कुल पसन्द नही है।उन्हे ...

Read More »

वर्ल्ड कायस्थ कांफ्रेंस अवलोकन : उपलब्धियों को भूल जाना कायस्थों की आदत और सबसे बड़ी कमजोरी है

आज जब मैं इस लेख को लिख रहा हूँ तो ये सवाल सबसे बड़ा है की आखिर १ साल पहले जिस जोश खरोश के साथ दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में देश विदेश से कायस्थ एक जगह मिले I गिले शिकवे हुए कार्यक्रम की आलोचना और तारीफ़ दोनों ही की गयी I जिसके बाद निश्चित तोर पर राष्ट्रीय स्तर पर एक ...

Read More »

दुधमुंहे कायस्थ खबर को बहुत बहुत शुभकामनाएं – MBB सिन्हा

दुधमुंहे कायस्थ खबर को बहुत बहुत शुभकामनाएं। एक वर्ष तक स्वस्थ रहने के लिए बधाई एवम् भविष्य में अच्छी विकास के लिए पुनः अनंत शुभकामनाएं। चेतावनी: 1.मिलावटी दूध से बचना। २. डी पि टी के तिन टीके अवश्य लगवाना। 3. पोलियो ड्राप समय पर लेते रहना। 4.सिर्फ गाय का दूध ही लेना। 5. ऑलिव आयल से मालिश करवाना । 6. ...

Read More »

अभाकाम हमारी विरासत है और पारिया ग्रुप उसमे वैधानिक और अच्छी भूमिका निभा रहा है- धीरेन्द्र श्रीवास्तव

जब-जब कायस्थों के बडे व लोकप्रिय सामाजिक संगठन की चर्चा होगी एक ही नाम उभर कर राष्ट्रीय स्तर पर आम और खास लोगो के जेहन मे आता है - "अखिल भारतीय कायस्थ महासभा" हालांकि आज की तिथि मे महासभा के अनेक गुटो सहित हजारो स्थापित व स्वानामधन्य संगठन कायस्थ हित का दावा करते दिखाई पड रहे है परन्तु जिस प्रकार ...

Read More »

ये न देखे की कौन सा संघटन कार्य कर रहा है , आप करे – कायस्थ सुशान्त श्रीवास्तव

कायस्थ कायस्थ कह के चिलाने वाले बहुत मिलेंगे हमारे कायस्थ समाज में , पंरन्तु अगर कोई कार्य कहा जाये तो अधिकांश चित्रांश बन्धु कल्टी मार लेते है ,वेसे लोगो का आखिर समाज में क्या योगदान ? इसी वार्ता पर बात हुई मेरे एक मित्र से तो हमारे चित्रांश मित्र ने कहा की कम से कम कायस्थ का नाम तो समाज ...

Read More »