Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल (page 24)

चौपाल

समय की मांग है एक सर्वमान्य समिति का गठन:- आदित्य श्रीवास्तव

हम केवल अपने समाज के गौरवशाली इतिहास का गुणगान करते रहते है और समाज मे एकता का रोना रोते रहते है।जबकि मुझे लगता है समाज मे एकता की और एक होनी की भावना की कमी नही बस बैचारीक मतभेद और अविश्वास की भावना है। चूकि हमारा समाज बुद्धजिवि है तो मतभेद होना लाजमी है।अब हम अन्य जातियो और समाज से ...

Read More »

आर0 के0 सिन्हा आज के दौर मे सर्वमान्य सच्चे और आदर्श कायस्थ नेता है – आदित्य श्रीवास्तव

समाज से जुडी गतिविधियो पर ध्यान देना और कायस्थ नेताओ से मिलकर समाज के प्रति उनकी सोच और समाज के लिए किये जा रहे उनके कार्यो के बारे मे जानकारी रखने की मेरे मन मे बहुत उतसुक्ता रहती है पर बहुत दुख होता है ये देखकर की 25-30 सालो से जो संगठन समाज के लिये कार्य करने का दाबा करते ...

Read More »

फिर एक सवाल ? -धीरेन्द्र श्रीवास्तव

कब तक हम अपने स्वार्थो की पूर्ति के लिये "कायस्थ" समाज के एकता व विकास के हितो को आघात पहुचाते रहेंगे? क्या हम अपने संगोष्ठी प्रकृति के अथवा जनपद स्तरीय कार्यक्रमों को राष्ट्रीय/ अखिल भारतीय नाम देकर अपने समाज का उपहास नही करते है? राष्ट्रीय प्रतिनिधित्व के नाम पर दूसरे जनपदों से आये चन्द लोग जो स्वयं किसी के दबाव ...

Read More »

आखिर राजनीती मे कायस्थ नेता क्यूँ नहीं पैदा होते ? – आशु भटनागर

आशु भटनागर I मुझे याद है कायस्थ खबर को शुरू करने के प्रारम्भिक दिनों जब मैं भोपाल मे कई वर्षो से कायस्थ समाज सेवा के कार्यो मे जुड़े वेद आशीष श्रीवास्तव से मिला तो उन्होंने कहा की कायस्थ समाज मे लोग ऐसी चीजे सिर्फ अपने खाली दिनों मे लाते है तुम्हे भी कल को कोई बड़ा मौका मिल जाएगा तो ...

Read More »

संविधान निर्माता डा०राजेन्द्र प्रसाद दिवस मनाने वाले सभी साथियो को साधुवाद – धीरेन्द्र श्रीवास्तव

देश के उन सभी साथियो को साधुवाद जिन्होने 3 दिसम्बर के पावन दिवस को जन्मे तीन कुलगौरव अमर महापुरुषो दानवीर मुंशी काली प्रसाद, शहीद खुदीराम बोस एवं भारतरत्न डा०राजेन्द्र प्रसाद की जयन्ती पर सभी को नमन करते हुये निर्मल एवम मुक्तहृदय से "संविधान निर्माता डा०राजेन्द्र प्रसाद दिवस" मनाया जो हमारे स्वाभिमान व सम्मान हेतु मील के पत्थर सादृश है। हालांकि ...

Read More »

संविधान निर्माता दिवस पर बिशेष – राजेन्द्र बाबू से क्यों बचते थे नेहरु : आर के सिन्हा

आर. के. सिन्हा, सांसद, राज्यसभा । डा. राजेन्द्र प्रसाद की शख्सियत से पंडित नेहरु हमेशा अपने को असुरक्षित महसूस करते रहे। उन्होंने राजेन्द्र बाबू को नीचा दिखाने का कोई अवसर भी हाथ से जाने नहीं दिया। हद तो तब हो गई जब 12 वर्षो तक राष्ट्रपति  रहने के बाद राजेन्द्र बाबू देश के राष्ट्रपति पद से मुक्त होने के बाद पटना ...

Read More »

संविधान निर्माता डा. राजेन्द्र प्रसाद क्यूँ नहीं – जय प्रकाश सिन्हा

डा. राजेन्द्र प्रसाद जी - - - संविधान निर्माता ? कैसे ? भारतीय संविधान सभा की पहली बैठक दिसम्बर, 1946 मे हुई जिसमें सर्वसम्मति से डा. राजेन्द्र प्रसाद जी को संविधान सभा का अध्यक्ष चुना गया. "A very high position in public life, long experience, exceptional qualities of head & heart" अध्यक्ष चुनने के कारण थे. अध्यक्ष चुने जाने के ...

Read More »

अगर हमें जिन्‍दगी में आगे निकलना है तो इन केकडे टाइप लोगों से बचना होगा – संजीव सिन्हा

आप चारपहिया गाडी से हाईवे पर जा रहे हों, आपके आगे एक पुराना खटारा ट्रक वाला पहली लेन में चल रहा हो और आपके बार-बार पास मांगने पर भी पास नहीं देता है तो आप क्‍या करते हैं। मजबूर होकर ट्रैफिक नियमों के विपरीत जाकर उसे बांये से ओवरटेक करके आगे निकल जाते है क्‍योंकि वो न तो आपसे तेज ...

Read More »

कायस्थ रत्न सच्चिदानंद सिन्हा के जन्म दिन 10 नवंबर पर खास -आर.के. सिन्हा

आर.के. सिन्हा । जिन महापुरुषों को ये देश भूलता जा रहा है और उनके देश-समाज के लिए किए उल्लेखनीय कार्यों को नजरअंदाज कर रहा है, उनमें डा0 सच्चिदानन्द सिन्हा भीशामिल हैं। उनकी अगुवाई में ही बंगाल से बिहार को अलग करने की मांग को लेकरचला था आंदोलन। सच्चिदानंद का व्यक्तित्व बहुआयामी था। वे विधिवेत्ता, राजनेता, शिक्षाविद और प्रखरलेखक और पत्रकार भी थे। सच्चिदानंद ...

Read More »

कायस्थ सम्मलेन का यथार्थ ? महथा ब्रज भूषण सिन्हा

अभी चारो ओर चर्चा गर्म है कायस्थ सम्मेलनों की. मुझे लगा कायस्थों के अच्छे दिन आ गए. कानपुर सम्मलेन, वाराणसी सम्मलेन और अब भोपाल सम्मलेन? सभी सम्मेलनों में लाखों की भीड़ का दावा. करोड़ों का खर्च का अनुमान. चुन-चुन कर राजनितिक कायस्थ नेताओं को आमंत्रण. कहीं कोई छुट न जाए जैसी सतर्कता. वाह क्या कहने ! फेसबुक एवं व्हाट्स एप्प ...

Read More »