Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल (page 3)

चौपाल

“कायस्थवृन्द”के प्रति शंका करने के बजाये विश्लेषणात्मक समीक्षा करना समीचीन होगा: योगेन्द्र श्रीवास्तव के आरोपों पर बोले धीरेन्द्र श्रीवास्तव

प्रसिद्ध कायस्थ मीडिया पोर्टल " Kayastha Khabar "के माध्यम से अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के एक पदाधिकारी को प्रश्न उठाने के पूर्व जानना चाहिये था कि "कायस्थवृन्द" कोई संगठन अथवा संस्था नही है बल्कि सामूहिक नेतृत्व की अवधारणा है जिसमें विभिन्न कायस्थ संस्थाओ/संगठनो के पदाधिकारियो,विभिन्न संस्थाओ व संगठनो के कायस्थ पदाधिकारी, व्हाट्सेप तथा फेसबुक के पेजो व ग्रुपो के संस्थापक एडमिन तथा सक्रिय कायस्थो ...

Read More »

मंदिर हमारी आस्था का केन्द्र है, यदि कोई मंदिर के नाम पर दान माँगता है तो वो ठीक नही है- कुलदीप श्रीवास्तव

आजकल कुछ संस्थायें भगवान के नाम पर चंदा माँगने के काम पर लगी हैं। उन सभी से मेरा कहना है कि इस तरह से चंदा माँगकर हमारे हिन्दू धर्म को कमजोर मत करिये। पहले से ही हम हिन्दुओं में भगवान के नाम पर आस्था की कमी है। मात्र गिने चुने लोगों के अंदर ही प्रभु के नाम आस्था और श्रद्धा ...

Read More »

आखिर क्यों हमारा कायस्थ समाज दिग्भ्रमित हो रहा है – ललित सक्सेना

आखिर क्यों हमारा कायस्थ समाज दिग्भ्रमित हो रहा है आखिर क्यों ना कोई एक बैनर जो की पुरानी को पारिवारिक हो और जिसे कायस्थ समाज समझता हूं और मजबूत किया जाए किसी उद्देश्य के साथ मेरे द्वारा आज से 1 वर्ष पूर्व अखिल भारतीय कायस्थ महासभा 5680 पंजीकृत संस्थान में प्रदेश प्रभारी के रूप में राजस्थान में एक पद लिया ...

Read More »

ABKMभारत विवाद पर कायस्थ ट्रस्ट के सुमनकुमार वर्मा की मनीष श्रीवास्तव से अपील : किसी भी चित्रांश संस्था या चित्रांश पर बिना वजह आरोप नही लगाएं

चित्रांश मनीष जी से विनम्र निवेदन है कि किसी भी चित्रांश संस्था या चित्रांश पर बिना वजह आरोप नही लगाएं। यही कारण है कि हम चित्रांश एक नही हो पाए। आज भी सभी चित्रांशों मे एकता नही बन पा रही है,क्योकि सभी एक दूसरे से मिलकर चलने एवम एकजुट होकर चित्रांशों के समस्यायों के निष्पादन करने की कोशिश नही कर ...

Read More »

कई गुटों के बाद ABKM भारत बनाने की मुहीम क्या कायस्थ समाज को हमेशा भ्रमित रखने की सोच है

कायस्थ खबर ब्यूरो I कायस्थ समाज में छुटभैयों नेताओं की महत्वाकांक्षा ने समाज को ऐसे चोराहे पर लाकर खड़ा कर दिया है जहाँ से समाज के आगे बढ़ने की संभावनाए ख़तम ही हो जाती है I व्हाट्सअप्प ग्रुपों की तर्ज पर बनते इन कायस्थ संगठनो की हालत समाज मेकिसी से छुपी नहीं है , किसी ना किसी राजनैतिक दल के ...

Read More »

मुद्दा : हर मंत्रीमंडल विस्तार के बाद कायस्थों की उपेक्षा पर दुसरो को कोसने की जगह राजनैतिक दावेदारी मजबूत करना ज़रूरी है

सम्पादकीय I केन्द्रीय मंत्रीमंडल में विस्तार के साथ ही आज एक बार फिर से सोशल मीडिया कायस्थ समाज के स्वयंभू नेताओं और चाटुकारों का रुदन चालु हो गया I सभी एक सुर में कायस्थों को जगह ना देने की बात पर व्हाट्स अप्प ग्रुपों पर शोर मचाये है I व्हाट्स अप्प ग्रुपों और फेसबुक पर लोगो के आक्रोश को देख ...

Read More »

रविवार विशेष : कायस्थ समाज में अमीर और गरीब कायस्थ के बीच की खायी बढ़ रही है

आशु भटनागर I कायस्थ समाज में संगठनो की लड़ाई के बाद युद्धविराम का दौर है I आरोप प्रत्यारोप अब पुरानी बात होते जा रहे है जो की निश्चित ही एक अच्छा संकेत है , समाज में पवित्र समाजसेवी और स्वयंभू नेता हाशिये पर जा चुके है I  लेकिन समाज में इस शान्ति के बड़े मायने खोजने की ज़रूरत है दरअसल ...

Read More »

सर्वानंद सर्वज्ञानी की कलम से……………… मम्मी, मैं कब बाप बनूँगा?

संगठन शब्द आते ही पहली बात जो मन मे उठती है, वह है सरकार द्वारा निबंधित है क्या? उसके बाद दूसरा प्रश्न- अध्यक्ष कौन व्यक्ति हैं? इसका अर्थ यह नहीं कि आप उन्हे जानते हैं अथवा नहीं? तीसरा प्रश्न- संविधान क्या है? अब जब सोच थोड़ी आगे बढ़ती है तो संगठन से जुड़े पदाधिकारियों पर नजर जाती है। कोई हमारा ...

Read More »

स्वतंत्रता दिवस पर स्वतंत्रता का मतलब भी समझे कायस्थ समाज … एक निरंकुश नेत्री की अबला कायस्थ महिला के चरित्र हनन पर विशेष

देश आज स्वतंत्रता दिवस मना  रहा है,  हम सब भी एक दुसरे को इस महान पर्व की बधाई दे रहे है , कायस्थ समाज के सभी लोगो ने सोशल मीडिया पर बधाई देने का जो उत्साह दिखाया हुआ है वो काबिले तारीफ़ भी है I लेकिन इस सब के बीच एक सवाल भी उठ रहा है की आखिर इस स्वतंत्रता ...

Read More »

मुद्दा : राजनीती चमकाने में गर्त में जा रही है कायस्थ समाज की महिला नेत्री,अन्य महिलाओं के चरित्रहनन पर उतरी : करुन श्रीवास्तव

एक बात सिद्ध होती है कि औरत ही औरत की दुश्मन होती है आप लोग एक दूसरे पर इलज़ाम लगा कर क्या हासिल कर लेंगे बस थोड़ी सी वाहवाही क्या इससे समाज की अन्य जिम्मेदारियों की पूर्ति हो जाएगी? आप लोग इलज़ाम लगाकर सम्मानित होने का कार्य नही कर रहीं बल्किन स्वयम निर्वस्त्र हो रही हैं इसमें कोई दो राय ...

Read More »