Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल (page 4)

चौपाल

देने को कुछ नहीं लेने वालों की लाइन – कैलाश नाथ सारंग पर डा मुकेश श्रीवास्तव के बड़े आरोप

वाह रे पढ़े लिखे बुद्धिजीवी समाज ! सुना है मध्य प्रदेश की राजधानी में अखिल भारतीय कायस्थ महासभा का उत्तराधिकारी घोषित होने जारहा है, यानी महासभा किसी को सौपी जाने वाली है । महासभा किसी दूसरे को सौंपने वाले भी कौन , वे जिनके पास न तो महासभा है और न ही वे अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के लीगल पदाधिकारी ...

Read More »

क्या कायस्थ समाज का नेतृत्व गैर कायस्थ या वर्ण शंकर कायस्थ करेगा? यह एक यक्ष प्रश्न है? महथा ब्रज भूषण सिन्हा

जैसा कि आप सब जानते हैं, कायस्थ की वंश श्रिंखला भगवान श्री चित्रगुप्त जी से मानी जाती है। चार वर्णो मे हमारा स्थान न होते हुये भी हम अपने आप मे एक वर्ण स्थापित हो चुके हैं. इस समाज की चाहे जितनी भी विडंबनाएं हों, वर्तमान समय मे हमारी गणना प्रतिष्ठित समुदाय मे होती है। हमारे समाज मे रहने, कार्य ...

Read More »

बड़ा सवाल : इलाहाबाद में कायस्थ वृन्द का युवा कायस्थ महासम्मेलन, आखिर क्यों?

साथियो, कायस्थ पाठशाला न्यास( केपी ट्रस्ट) के पूर्व महासचिव एवं पूर्व महापौर प्रत्याशी श्री कुमार नारायण द्वारा "कायस्थ वृंद' के तत्वावधान में शीघ्र ही इलाहाबाद में युवा कायस्थ महासम्मेलन का संयोजन कराया जाएगा। ज्ञात रहे कि 'कायस्थ वृंद" कोई संगठन अथवा संस्था नहीं है बल्कि समाज के जागरूक सतर्क और चिंतन करने वाले कर्मशील कायस्थों द्वारा "विचारधारा" बनाने का प्रयास ...

Read More »

संस्मरण : कायस्थखबर को आर के सिन्हा जी से मिली सीख-क्रोधरूपी राक्षस की ताकत तभी घटती हैँ, जब इंसान अपने आपको संतुलित रखता हैँ, हर समय मुस्कुराता रहता हैँ

आशु भटनागर I आज शाम एक फ़ोन आया, सामने से मेरे मित्र स्वरुप अनुज ने कहा की भैया कुछ लोग लगातार सोशल मीडिया पर आपको लेकर तरह तरह की बातें कर रहे है I लगातार अनेक प्रकार की धमकियाँ , बहिष्कार और चरित्रहनन की बातें हो रही है I कुछ लोगो ने पत्थरबाज़ हायर कर लिए है जो आपको लेकर ...

Read More »

कायस्थबोलता है : कलियुग मे श्री चित्रगुप्त भगवान के नाम की प्रत्यक्ष महिमा , प्रसिद संगीतकार चित्रगुप्त श्रीवास्तव

कायस्थ खबर "कायस्थ बोलता है" के नाम से  एक नया कालम शुरू कर रहा है जिसमे लोगो के टेस्टीमोनियलस उन लोगो के बारे में दिए जायेंगे जो परदे के पीछे रह कर काम कर रहे है I ये एक नयी कोशिश है समाज के चेहरों को आगे लाने का , मकसद है समाज में सहयोग की भावना को सामने लाने ...

Read More »

ABKM विबाद में स्वयुम्भु संयोजक मनीष श्रीवास्तव पर बरसे राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष डा मुकेश श्रीवास्तव

मनीष श्रीवास्तव फ़र्ज़ी राष्ट्रीय संयोजक अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के द्वारा अपने कायस्थ ब्लॉग  पर कायस्थ महासभा का वैधानिक विश्लेषण शीर्षक से एक समाचार पोस्ट किया है । उसके संबंध में मै मनीष जी को बताना चाहता हूँ कि विधि क्या है यह तो जानलो तब किसी भी तथ्य का वैधानिक विश्लेषण करने मे सक्षम होसकते हो । हम सोसायटी ...

Read More »

सवाल ये है की की आखिर इस सरकार और बीमार समाज में कायस्थ समाज अपने को कैसे सुरक्षित महसूस करे : अलोक श्री

हर दिन एक नयी निर्भया की कहानी और सरकार कह रही है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ ,,,,क्या बेटी बचा कर माँ बाप इसी शर्मसार घटना का गवाह बनते रहेंगे ? आखिर कब तक सरकार अपाहिज बनी रहेगी और प्रशासन लकवे की स्थिति में बिस्तर पर पड़ा रहेगा और बेटियाँ हैवानो की शिकार होती रहेंगी !! इंसानियत किस कदर मरती जा ...

Read More »

बेटी के सम्मान में, कायस्थों उतरो अब मैदान में!! – डॉ ज्योति श्रीवास्तवा

एक बड़ा प्रश्न.... कितनी दामिनी और कितनी दीपाली?? कब तक जलेगी बेटी ? कब तक होगा ये दुराचार? दोषी कौन? न्याय कहाँ? सरकार का इंसाफ कहाँ?? उससे भी बड़ा प्रश्न.... कहाँ हैं वो लोग जो अपने समाज और मित्रों के इतिहास और भविष्य जानने में, आरोपी ढूँढने और उसका आरोप सिद्ध करने में अपनी सारी योग्यता-सारी ऊर्जा लगा देते हैं?? ...

Read More »

सामाजिक पत्थरबाजी में ज़रूरी है मौन का कवच – कवि स्वप्निल

"इन हवाओं में इक उमस है,और हाथों में पत्थर भी। ये तस्वीर उस दुनिया की,हैं जिसे हम सँवारने निकले।।" जब जब पत्थर बाजी की बात आती है, तब तब हमारे जेहन में स्वर्ग से सुंदर घाटी को नर्क की प्रताड़ना देने वाले अलगाववादियों की तस्वीरें खिंच जाती हैं। परन्तु आज ना घाटी की बात करूँगा और ना ही शरीर को ...

Read More »

‘कर्म ही प्रधान है, बिना कर्म किए आपको सफलता नहीं मिलेगी’ ऐसा सोचना भी अब महापाप है- विवेक बाड़मेरी

आपने देखा हो या नहीं पर मुझे ऐसा देखने का कुछ समय का तजुर्बा है आप कह सकते हैं। कई बार देखने में आता रहता है कि किस तरह लक्षणहीन, अनाड़ी तथा असभ्य लोग केवल खुशामद करके कोर्इ बड़ा पद पा लेते हैं। इसके पीछे उनकी चापलूसी करने की प्रतिभा छुपी रहती है। चलिए अब आपको विस्तार पूर्वक बतलाते हैं ...

Read More »