Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल (page 4)

चौपाल

कायस्थों में उपजातियों में ऊँचा नीचा का भाव है। यह आपका विचार वास्तविकता से परे है – सुभाष श्रीवास्तव

कायस्थों में उपजातियों में ऊँचा नीचा का भाव है। यह आपका विचार वास्तविकता से परे है। भारत एक.विशाल देश है। शादी तभी होगी। जब संम्पर्क होगा। जब हम यूपी में हैं और मद्रास के लोगों से सम्पर्क नहीं है तो शादी कैसे होगी। जहाँ सम्पर्क होता है। वहाँ शादी होती है। भेद भाव का सवाल नहीं रहता। उदाहरण के लिए ...

Read More »

धीरेंद्र श्रीवास्तव जी अनर्गल दुष्प्रचार करने से राष्ट्रीय कायस्थ वृंद का कोई नुकसान नहीं होना है – संजीव सिन्हा

श्री धीरेंद्र श्रीवास्तव जी, जो संस्था ही पंजीकृत नहीं है, जिसकी कोई नियमावली ही नही है, वो चंदा किस नियम से और किस बैंक खाते में स्वीकार करेगी। अनर्गल दुष्प्रचार करने से राष्ट्रीय कायस्थ वृंद का कोई नुकसान नहीं होना है, क्योंकि हमारे पास स्पष्ट उद्देश्य हैं, उधार के नहीं। हमारा जवाब हमारा काम देगा। सोशल मीडिया में हल्ला मचाने ...

Read More »

“कायस्थवृन्द”द्वारा किसी प्रकार का चन्दा स्वीकार नही किया जाता है न ही किसी प्रकार की अपील किया जाता है- धीरेन्द्र श्रीवास्तव

साथियो, कल हमारे पास अनेक कायस्थों के फोन आये जिसमें वे किसी व्यक्ति के इलाज के सम्बन्ध मे "चन्दे" की अपील के सम्बन्ध मे चर्चा कर रहे थे। हम स्पष्ट कर देना चाहते है कि हम व "कायस्थवृन्द" अपने द्वारा अंगीकृत सिद्धान्तों के अधीन किसी भी प्रकार का "चन्दा" स्वीकार कर ही नही सकते। अत: आप सभी से अनुरोध है ...

Read More »

ScamAlertABKM: पारिया गुट के सदस्यता शुल्क घोटाले पर मनीष श्रीवास्तव के तीखे सवाल

अखिल भारतीय कायस्थ महासभा पारिया गुट के २७ नबम्बर को दिल्ली में होने वाले कार्यक्रम के एजेंडे को लेकर कायस्थ खबर ने जो जानकारी अपने पाठको को दी थी I उस पर समाज के कई लोगो की प्रतिक्रियाये हमें मिली , विवाद का केंद्र बने मनीष श्रीवास्तव ने भी  कुछ सवाल हमें भेजे हैं जिनको हम मूल रूप में ही ...

Read More »

रविवार तड़का : ABKM आदि स्वनामधन्य दुकाने चलती है तो चलें। कायस्थ चिंतन एक सुनामी लहर बनता जा रहा है। इसे बनने दीजिये- कुमार अनुपम

संगठनों का बनना टूटना विभाजित होना पदों की होड़ सारंग साहेब की पदलिप्सा व अपने बेटे को और खुद को establish करने की नीति और आमरण abkm के एक कुनबे का अध्यक्ष बने रहकर अब अपने बेटे को उसका अध्यक्ष बनाने की तयारी साथ में उनके संसर्ग में उनके आसपास रहे कायस्थ पदधिकरिओन द्वारा ABKM के अलग अलग गुट बना ...

Read More »

करवाचौथ स्पेशल : कायस्थ समाज २४ मिनट अपने समय में से समाज को दे ताकि विवादित संगठन उसनके समय और पैसे से अपनी पत्नियों को पद और सम्मान दिला सके

अजी सम्पादक जी महाराज, एक नया प्रोपेगैंडा  सर्वानंद सर्वज्ञानी के सामने आया है की विवादित संगठन एक पदाधिकारी ने कायस्थ समाज से अपील की है कि यदि हम सब अपनी व्यस्त दिनचर्या के 24 घंटो में सिर्फ 24मिनट नियमित अपने समाज या संगठन को दे तो किसी भी कार्यक्रम या अभियान को असफलता से बचाया जा सकता है। इतना सुनते ही ...

Read More »

सर्वानंद सर्वज्ञानी जी खबर लाये है : हमारे भाईयों ने पांच गाँव क्यों पूरा कायस्थ समाज को ही स्मार्ट बना डाला है –

अजी सम्पादक जी महाराज, जब से सर्वानंद सर्वज्ञानी के कान में यह बात आई है कि कायस्थ एक परिवार है, ख़ुशी का ठिकाना नहीं है. अब दुनिया का कोई व्यक्ति हमसे, यानी इतने बड़े परिवार से टक्कर नहीं ले सकता. यह बात जब हम 10-12 वर्ष के थे, तो पता नहीं था. नहीं तो पांच भाई वाले दुसरे जाति के ...

Read More »

कायस्थ से कायस्थ तक : क्या हमारा कायस्थ समाज कोई सबक ले सकेगा ? -महथा ब्रज भूषण सिन्हा.

दुर्गा पूजा समाप्त हो गई. इस बीच लोकनायक जय प्रकाश नारायण की पुण्य तिथि 8 अक्टूबर एवं जयंती 11 अक्टूबर, दोनों बीत गए. पूजा के धूम-धडाके में लोकनायक को याद करने की फुर्सत शायद अधिकतर कायस्थ बंधुओं को नहीं मिली होगी. कायस्थ समाज में बाहरी दिखावा का एक जबरदस्त डी एन ए रहा है. जिनके पास धन रहा वे दिखावा ...

Read More »

संगठन प्रभावी नहीं होगा,अगर सिर्फ पदलोलुपता है, तो फिर एकता के नारे को छोड़ना होगा-महथा ब्रज भूषण सिन्हा

आखिर कायस्थ नेता को सिर्फ प्रचार ही क्यों चाहिए? आप थोडा गौर करें- राजनीति में हों या सामाजिक संगठन में, बड़े नेता हो या छोटे नेता, आप पायेंगे कि वे हर हाल में वे अपना प्रचार को ही प्रमुखता देते हैं. अगर किसी ने एक छोटा सा काम या किसी को कोई छोटी सी मदद भी किया, तो उसे बड़ा ...

Read More »

लेग पुलिंग! लेग पुलिंग!! लेग पुलिंग!!! चिल्लाओ नहीं महथा जी. जाकर आराम से सो जाओ – महथा ब्रज भूषण सिन्हा

कायस्थ संगठनों के साथ-साथ नेता और जनता के जबान पर लेग पुलिंग छा गया है. एक हमारे बड़े भाई, सॉरी बड़े भाई नहीं, एक राष्ट्रीय संगठन के बड़े पदाधिकारी और एक दुसरे संगठन, सॉरी, विचारधारा के सबसे बड़े राष्ट्रीय पदाधिकारी ने कहा– लेग पुल्लिंग से वे आगे नहीं बढ़ रहे हैं. मेरी समझ उलझ गई. भाई इतनी छोटी सी उम्र ...

Read More »