Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » अनकही

अनकही

कायस्थ शिरोमणि आर के सिन्हा पर हुए हमले के मायने, हमले के बहाने!!! सोशल मीडिया पर आक्रोश, विरोध और सेलिब्रेशन के बीच एक बार फिर से कायस्थवाद और हमलावाद को समझने की ज़रूरत है

आक्रोश, विरोध और सेलिब्रेशन !!! कुछ ऐसा ही हुआ जब २ दिन पहले देर शाम बस्ती में कायस्थ शिरोमणि आर के सिन्हा पर एक निर्दलीय प्रत्याशी द्वारा हमले और पथराव की रिपोर्ट दर्ज होने की खबर कायस्थ खबर ने पब्लिश की I कायस्थ समाज का अधिकाँश हिस्सा जहाँ इस अप्रत्याशित खबर से भौंचक्का था और आक्रोश प्रकट कर रहा था ...

Read More »

कायस्थ समाज का दुर्भाग्य ये है की सब अपनी अपनी ढपली बजाने में और अपना अपना राग अलापने में लगे हैं – अतुल श्रीवास्तव

हमारे कायस्थ समाज का दुर्भाग्य है कि जो हमारे नेता होने का दम भरते हैं वे ना तो समस्याओं की पहचान करना चाहते हैं और ना उन समस्याओं का निदान चाहते हैं | क्या उन लोगों में सामाजिक जिम्मेदारी की भावना काअभाव है या लोग बेवजह के झंझटों में पड़ना नहीं चाहते? जिस समाज में बड़े बड़े व्यापारी, उद्योगपति, नौकरीपेशा ...

Read More »

आर के सिन्हा के संगत पंगत का हुआ असर सालो बाद सभी पार्टियो में कायस्थों को मिला टिकट – अलोक श्री

समाजसेवी,व्यवसाई,सांसद,कायस्थ रत्न और कायस्थों के रबिनहुड जैसे तमाम पहचानो से परिचित श्री आर के सिन्हा का इस बार असर बीजेपी में दिख रहा है !यूपी चुनाव २०१७ में 6 कायस्थों को टिकट इसको साबित करता है इस बार जिन कायस्थों को टिकट दिया गया है वह निम्नलिखित है 1-रामपुर- श्री शिव कुमार सक्सेना 2- बरेली--श्री अरुण कुमार श्रीवास्तव(विधायक) 3- लखनऊ ...

Read More »

मुद्दा : मीटिंग करना, सम्मेलन करना और चुनाव आने पर किसी न किसी पार्टी का दामन थाम कर उसका प्रचार करना, क्या हमारे संगठनों का यही जिम्मेदारी रह गई है – अतुल श्रीवास्तव

अक्‍सर राजनीतिक दलों की निगाहें कहीं औरहोती है और निशाना कहीँ और होता है।लेकिन जब सामाजिक विकास के नाम पर बनी संस्‍थाओं का चालचलन और नीतियॉं भी राजनीतिक पार्टियों के खिलाडियों जैसी हो जायें तो इन संस्‍थाओं के चेहरे और चेहरे के पीछे के भावों पर शक की सुईयॉं घुम ही जातीहै। पूरे देश में कायस्थ के एक, दो, नहीं ...

Read More »

समय की मांग है २०१७ के बाद अब 2019 के लिए एक प्रभावी नीति बनाए जिससे राजनीती में और ज्यादा भागीदारिता मांगी जा सकें- रोहित श्रीवास्तव

उत्तर प्रदेश के चुनावों का बिगुल बज चुका है। सभी पार्टियों ने टिकटों का बंटवारा भी कर दिया है। बात चाहे भारतीय जनता पार्टी की हो या फिर सपा, बसपा और कांग्रेस की सबने कहीं न कहीं कायस्थों को टिकट दिया है। उम्मीद के मुताबिक़ न सिर्फ सबसे ज्यादा टिकट कायस्थ समाज को भारतीय जनता पार्टी ने दिए हैं बल्कि ...

Read More »