Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » Kayastha Are Best in Every Field

Kayastha Are Best in Every Field

कायस्थों की ‘संगत और पंगत’ का हुआ जोरदार आगाज, श्री सिन्हा के समर्पण को सबने सराहा।

रोहित श्रीवास्तव। कहते हैं एक अच्छा विचार एक अच्छे काम की शुरुआत करने मे बड़ा कारगर और मददगार साबित होता है और जिसका ‘आगाज’ शानदार हो, तो उसके अंजाम की परिकल्पना करना आपके लिए और भी आसान हो जाता है। बहुत दिनो से चर्चा मे रहे कायस्थों के महामिलन ‘संगत और पंगत’ के मासिक मिलन का जोरदार आगाज आज दिल्ली ...

Read More »

“मन की मुराद पूरी करता है पटना का आदि चित्रगुप्त मंदिर”

रोहित श्रीवास्तव।। बिहार के पटना साहिब मे धर्मराज चित्रगुप्त का प्राचीन ‘आदि चित्रगुप्त मंदिर’ है।  ऐसा माना जाता है कि 2200 वर्ष पूर्व राजा टोडरमल द्वारा जीर्णोंधार तथा राजा मुद्रा राक्षस द्वारा इसको स्थापित किया गया था। उल्लेखनीय  है कि इस मंदिर मे भगवान चित्रगुप्त की सबसे कीमती प्रतिमा स्थापित है।   दिलचस्प है कि यह मंदिर जिस पटना मे ...

Read More »

केवल चर्चा, सिर्फ संवाद, कायस्थ खबर परिचर्चा एवं संवाद २०१५ मे हुई कल-आज-कल की बात

रोहित श्रीवास्तव।। किसी भी राजनीतिक या गैर-राजनीतिक (सामाजिक) आयोजन के बाद लोगो के मन मे एक जिज्ञासारूपी प्रश्न जरूर रहता है कि “ संदर्भित आयोजन से क्या (निष्कर्ष) निकल कर आया”? कौन सी महत्वपूर्ण बातें भविष्य की दशा और दिशा निर्धारित कर सकती हैं। गौरतलब है कि रविवार, 5 जुलाई 2015, को कायस्थ खबर द्वारा नोएडा के एक्स्पो सेंटर मे ...

Read More »

कायस्थों ने दिखाई कायस्थ समागम मे ताकत, बिहार की राजनीति मे उथल-पुथल

रोहित श्रीवास्तव । पटना । रविवार को पटना के गांधी मैदान के कृष्ण मेमोरियल हाल मे कायस्थ समागम 2015 का भव्य आयोजन हुआ। इसकी भव्यता और सफलता का अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि पूरा आयोजन स्थल खचाखच भरा हुआ था। उल्लेखनीय है कि इस कायस्थ समागम के आयोजन की तैयरिया महीनो से चल रही थी जिसका ...

Read More »

कायस्थ-एकता और ‘एकरूपता’ के लिए मील का पत्थर साबित होगा कायस्थ-समागम-2015

रोहित श्रीवास्तव । पटना मे 28 जून को प्रस्तावित कायस्थ-समागम-2015 को लेकर बहुत सारे चित्रांश बंधुओ के मन मे दुविधा, संशय और कई प्रश्नो के साथ एक जिज्ञासा भी है आखिर ऐसा क्या ‘नया’ होने वाला है ‘कायस्थ-समागम’ मे, मसलन कुछ लोगो की यह बैचेनी और उलझन जायज़ भी है, पूर्व मे भी ऐसे आयोजन होते रहे हैं जिसमे से शायद ...

Read More »

क्यों जरूरत पड़ी कायस्थ-कॉन्फ्रेंस के आयोजन की? कॉन्फ्रेंस का आंखों-देखा हाल

इसमे कोई शक नहीं है कि कायस्थ समाज आज के आधुनिक भारत मे सबसे बिखरा और भटका हुआ समाज है। माना की आज भी कायस्थों का भारतीय समाज मे वो स्थान बिलकुल बरकरार है जिसका आधार हमारे महान एवं ऐतिहासिक महापुरुषों के द्वारा रचा गया स्वर्णिम और गौरवपूर्ण इतिहास है जो सभी चित्रांशों के लिए प्रेरणास्रोत भी है। प्रश्न यह ...

Read More »

एक दिन वो अपना और आपका नाम रौशन कर आएगा

आप नमक मेँ चीनी की मिठास ढूँढोगे तो मिलेगा क्या...?? आप चीनी मेँ नमक का स्वाद ढूँढोगे तो मिलेगा क्या..?? नहीँ ना.? आप कुछ ऐसे डॉक्टर, इंजिनीयर, बैँक मैनेजर का नाम बताओ भारत के, जिसको पूरा विश्व जानता हो..?? शायद आप एक भी नाम ना बता पाओ...!! फिर आप बच्चोँ को ऐसी बात की शिक्षा दिलवाने पर क्योँ तुले हो, ...

Read More »