Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » विवेक बाड्मेरी जी ! विगत तीन दिनों से आप का रोल मुझे शर्मसार कर रहा हैं ! , अब परदा उठने वाला हैं , इसी के वी पी के अंदर से ही पोल खुलेगी ! – ब्रजेश श्रीवास्तव

विवेक बाड्मेरी जी ! विगत तीन दिनों से आप का रोल मुझे शर्मसार कर रहा हैं ! , अब परदा उठने वाला हैं , इसी के वी पी के अंदर से ही पोल खुलेगी ! – ब्रजेश श्रीवास्तव

विवेक बाड्मेरी जी !

बेटा आप को जब फैजाबाद में भगवान चित्रगुप्त जी के मंदिर पर मत्था टेकते देखा तो ऐसा लगा जैसे कोई परम कायस्थ भक्त मुझे मिल गया , मै इस नई व समर्पित शख्सियत से मिलने रात्रि में स्टेशन भी गया लेकिन विगत तीन दिनों से आप का रोल मुझे शर्मसार कर रहा हैं !
ए वेद प्रकाश के वी पी में कैसे जोड़ा गया ?
बेटा विवेक " कायस्थ वृन्द " सागर हैं सागर ! इसके मुख्य समन्वयक , धीरेन्द्र जी , शेषनाग हैं , जिनकी शरीर को पकड़ कर लोग
समुद्र मंथन कर रहें हैं , मंथन करने वाले सारे कायस्थ ," जिसमे कुछ सुर कायस्थ हैं , कुछ विरोधी कायस्थ , इसी मंथन से " कायस्थ रूपी रत्न निकल कर भारत की दशा और दिशा बदलेंगे !
मै विश्वास करता हूँ , की आप , इस मंथन में अराजकतत्वों का साथ नहीँ दोगे , यह बात तो साबित हो गयी हैं , धीरेन्द्र जी की , " कि कोई ना कोई गद्दार कायस्थ , कुमार विश्वास , वेद्प्रकाश , और ए वी पी न्यूज से मिला ज़रूर हैं , नहीँ तो उस वेद प्रकाश को इस कायस्थो के संगठन में किसने जोड़ा और वह जुडा कैसे ,बेटा परत दर परत खुलता चला जायेगा जैसे यदि वह बेशर्म कवि अपनी पोस्ट K V P पर ना डालता तो पता ही ना चलता कि वह हमारे बीच में राहु बन कर बहुत पहले से हमारी कमजोरियों का अवलोकन और मूल्यांकन करता आ रहा था !

अब परदा उठने वाला हैं , इसी के वी पी के अंदर से ही पोल खुलेगी !
उसे जोड़ने वालों में कहीँ आप तो नहींहो विवेक जी ?
क्या एम बी बी सिन्हा साहब तो नहीँ ?
कही अभय जी तो नहीँ ?
कहीँ , अनिल सक्सेना तो नहीँ ?

आखिर कौन हो सकता हैं वेद प्रकाश को लाने वाला , कोई ना कोई तो होगा ही , बाड़मेरी बेटा , आप लोगों से हम बुजुर्गो को बहुत उम्मीदें थी !

ज़रूर पढ़े : बड़ा खुलासा : जानिये आखिर भगवान् चित्रगुप्त के  अपमान पर हुई सौदेबाजी के इस खेल के पीछे का सच क्या है ?

आज जैसे हम पूँछ रहें हैं कौन हैं उसे के वी पी में जोड़ने वाला ,हो सकता हैं आप मेंसे कोई ना हो परंतु यह फर्ज तो आप का भी बनता हैं, अनिल जी का भी बनता हैं , कि उसकी खोज करे एडमिन से पूछें , नाकि किसी साफ सुथरी छवि वाले व्यक्ति पर संदेह करें ,

कायस्थ वृन्द के मुख्य समन्वयक " श्री धीरेन्द्र जी " कि छवि इस लायक हैं कि वह सभी कायस्थो में " समन्वय " बैठा यानी स्थापित कर सकें !

अब देखो ना आप के पश्चिमी एरिया के शेर " कायस्थ सिंघम " के नाम से देश विख्यात , भाई सुरेन्द्र कुलश्रेष्ठ जी , भी " कायस्थ वृन्द " नामक महासागर में मंथन कर रहें हैं , बेटा कायस्थ रूपी इस महा सागर में शेषनाग भगवान कि पूँछ पकड़ कर "मंथन होता हैं , तब उसमें से कायस्थ हीरे के रुप में "रत्न " निकलता हैं जो ," भाई कुलश्रेष्ठ जी कि , भाई मनोजजी कि तरह , देश कि मुख्य धारा से जुड़ कर " कायस्थ उत्थान " के प्रति सोचने लगता हैं ! ना कि बड़े भाई एम बी बी सिन्हा कि तरह मैदान छोड़ कर भग जाता हैं

उन्हौंने अपने इस्तीफे में लिखा भी हैं कि मै " कायस्थो कि एकता लाने में असमर्थ " होने के कारण ही प्रदेश अध्यक्ष पढ़ से त्याग पत्र दे रहा हूँ ,
कोई मेरा साथ नहीँ दे रहा हैं , इस लिये दुखी हूँ ! अपने को " समाज सेवक " कहने वाले बड़े भाई समाज कि क्या सेवा करेंगे , जो केवल कायस्थ समाज कि सेवा नहीँ कर सका वह " पूरे समाज " की क्या सेवा करेगा ? यक्ष प्रश्न हैं !
बेटा एक बार पुनः समझा रहा हूँ , मान . धीरेन्द्र जी को समझो --- वे एक अच्छे इंसान के साथ साथ , एक अच्छे और सच्चे समाज सेवक ,
अच्छे विचारक , अच्छे चिंतक , मधुर भाषी , ईर्ष्या और क्रोध को त्याग चुके , " कायस्थ एकता और उत्थान " के लिये समर्पित व्यक्ति हैं !
विवेक जी , अनिल जी , अभय जी , आप सभी युवा " कायस्थ स्तम्भ " हो आप सबों का दायित्व बनता हैं कि " इस अपमान का बदला "
लेने के लिये मैदान में आकर डट जाओ , उसको मुँह काला करके सड़क पर घुमावो --- कुमार विश्वास को जेल भेज्वाने का प्रयास करो , उस भ्रष्ट चैनल पर मानहानि प्रसारण का मुकदमा कायम करो , वह माफी माँगे जिसे पूरा विश्व देखें !
यदि आप लोग मेरे प्रति किंचित मात्र भी सम्मान भाव रखते हो तो " कायस्थ वृन्द " रूपी महासागर में आ जाओ और श्री धीरेन्द्र जी के
" विराट " हृदय में स्थान बना लो --------
हमारा आशीर्वाद आप सभी के साथ हैं !

हम तो इतना समर्पित हैं ," कि कायस्थ हित " के लिये जेल , फाँसी , गोली खाने को हमेशा तैयार रहते हैं ! क्योंकि मेरे मरने के बाद " विधवा " होने वाली कोई नहीँ हैं !
कोई कायस्थ " गाली भी दे दे तो अच्छा लगता हैं , अन्य कोई गाली दे दे तो मुँह तोड़ जवाब दूँगा !

खुश रहो मेरे अच्छे बच्चों , चित्रगुप्त भगवान सद्बुद्धि दे !

इसी आशीर्वाद के साथ , आप सभी का बुजुर्ग
बृजेश श्रीवास्तव , फैजाबाद उ प्र

( चौपाल  श्रेणी मे छपने वाले विचार लेखक के है और पूर्णत: निजी हैं , एवं कायस्थ खबर डॉट कॉम इसमें उल्‍लेखित बातों का न तो समर्थन करता है और न ही इसके पक्ष या विपक्ष में अपनी सहमति जाहिर करता है। इस लेख को लेकर अथवा इससे असहमति के विचारों का भी कायस्थ खबर डॉट कॉम स्‍वागत करता है । आप लेख पर अपनी प्रतिक्रिया  kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते हैं।  या नीचे कमेन्ट बॉक्स मे दे सकते है ,ब्‍लॉग पोस्‍ट के साथ अपना संक्षिप्‍त परिचय और फोटो भी भेजें।)

आप की राय

comments

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*