Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » खबर » सुशील मोदी फरक्का बराज का समर्थन कर बिहारवासियों की रक्षा करना चाहते हैं या राज्य के लोगों की हत्या करना चाहती है – कायस्थ नेता रणवीर नंदन का बड़ा सवाल

सुशील मोदी फरक्का बराज का समर्थन कर बिहारवासियों की रक्षा करना चाहते हैं या राज्य के लोगों की हत्या करना चाहती है – कायस्थ नेता रणवीर नंदन का बड़ा सवाल

कायस्थ खबर डेस्क I जदयू के एमएलसी और बिहार के कायस्थ नेता डा. रणवीर नंदन ने कहा कि फरक्का बराज पर भाजपा नेता सुशील मोदी झूठा, भ्रामक और तथ्यहीन बयान दे रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तकनीकी रूप से आम जनता के सामने सही तथ्य रख कर बताया है कि गंगा की अविरलता को बाधित करने वाला फरक्का बराज ही है। डा. नंदन ने कहा कि फरक्का बराज के कारण गंगा का बहाव धीमा पड़ जाता है।

इससे नदी का गाद समुद्र में जाने की बजाए इसकी पेटी में ही जमा हो जाता है। जब फरक्का बांध नहीं था तब गंगा का गाद सीधे समुद्र में चला जाता था। गंगा का बेसिन ह्यूमिड सब ट्रॉपिकल क्लाईमेट से गुजरता है। यहां हरेक वर्ष भारी वर्षा होती है। इसके साथ ही गोमुख ग्लेशियर के पिघलने से हर वर्ष लाखों क्यूसेक पानी गंगा में आ जाता है। अगर फरक्का बराज के पहले देखा जाए तो उस समय नदी में पानी भरपूर रहता था लेकिन गाद नहीं होती थी।

नतीजा कभी भी बाढ़ भयावह रूप नहीं लेती थी। सेटेलाइट अध्ययन से पता चला है कि बिहार में बाढ़ का मुख्य कारण फरक्का बराज द्वारा पानी की धारा को बंद किया जाना है। अगर धारा को खोल दिया जाए तो गाद बह कर समुद्र में चला जाएगा इससे बिहार के बहुत बड़े इलाके में लोगों को बाढ़ से मुक्ति मिल जाएगी। आश्चर्य है कि मोदी फरक्का बराज का समर्थन कर बिहारवासियों की रक्षा करना चाहते हैं या राज्य के लोगों की हत्या करना चाहते है।

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*