Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » अनकही » व्हाट्सएप ग्रुपों को छोड़ना धीरन्द्रश्रीवास्तव की हताशा या कायस्थ वृन्द को नयी दिशा देने की कोशिश है

व्हाट्सएप ग्रुपों को छोड़ना धीरन्द्रश्रीवास्तव की हताशा या कायस्थ वृन्द को नयी दिशा देने की कोशिश है

कायस्थखबर डेस्क I सोशल मीडिया में एक वक्त ऐसा भी आता है जब आप लगातार सैकड़ो ग्रुपों में होने के बाद उन्हें छोड़ना शुरू कर देते है या उनसे उदासीन होना शुरू कर देते है I ये एक स्वाभविक स्थिति है और इसकी जब में हर एक सेलिब्रिटी राजनेता , समाज सेवी एक दिन आता है I
दरअसल ये सोशल मीडिया का एक सेचुरेशन पॉइंट को भी दर्शाता है I मैं स्ट्रीम मीडिया में इसके चलते कई लोग सोशल मीडिया से अपनी सार्वजानिक उपलब्धता को कम कर चुके हैं जिनमे ट्रोल्स से तंग होकर ऐसे कदम उठाने वालो में रवीश कुमार का नामा प्रमुख है I
कायस्थ समाज में भी ऐसी ही स्थिति से कायस्थ शिरोमणि आर के सिन्हा सबसे पहले दो चार हुए जिसके बाद उन्होंने अपने प्रतिनिधि सबके साथ जोड़ दिए और संवाद की अपनी स्वाभिक प्रक्रिया को रोक दिया I इसके साथ ही समाज को जो उनसे संवाद से सीधा लाभ होता था उसमे थोडा अंतर आया I निश्चित तोर पर ट्रोल्स की अधिकता समाज सेवियों और राजनेताओं को ऐसे कदम उठाने पर मजबूर करती है I
इसी क्रम में ताजा कदम कायस्थ समाज में लोकप्रिय नेता के नाम से जाने जाने वाले और कायस्थ वृन्द के मुख्य समन्यवयक धीरेन्द्र ने भी लगभग सभी ग्रुपों से हटने का निर्णय लिया I उन्होंने भी अपने साथियो से कहा की अब वो अपने डायरेक्ट व्हाट्स अप्प पर हमेशा उपलब्ध होंगे I
ऐसे में लोगो ने इसे उनकी हताशा कहा और कुछ ने तो उन्हें कई विशेषण तक दे डाले , उनके ग्रुप छोड़ने से आहात हुए कुछ एडमिन उनके अपमान की पराकाष्ठा तक भी चले गए I
खैर सामाजिक विशेषण से इतर एक बात ये भी है की जब भी कोई समाज सेवी या राजनेता ऐसा कदम उठाता है तो उसमे उसकी हताशा कम उसकी अपने भविष्य को लेकर नयी दिशा तय करने का उद्देश्य ज्यदा होता है

हम सभी जानते है की धीरेन्द्र श्रीवास्तव पिछले २ सालो से सभी छोटे बड़े संगठनो को लेकर समाज को एक नयी दिशा देंने के प्रयास में लगे हैं I जिसमे उन्होंने कई संगठनो को जोड़ा और कई को आगे भी लाये लेकिन पिछले दिनों हुए विवाद के बाद ही उन्होएँ कायस्थ खबर को ऐसे संकेत दिए थे की वो कायस्थ वृन्द को अब बेहतर तरीके से आगे लाने के लिए कुछ नए प्रयोग करेंगे I जिसके लिए उन्हें लगातार ग्रुपों में होते घटनाक्रमों से ध्यान हटाना होगा I क्योंकि आज व्हाट्स अप्प ग्रुपों में सिर्फ एक ही काम रह गया है वो है किसी के इशारों पर अपने दुश्मनों के लिए ऐसे लोगो को आगे करना जो सिर्फ दिन रात शोर मचाये और लोगो को उनके उद्देश्यों से भटका दें I और ऐसे कुछ लोग परदे के पीछे रह कर इसमें सफल भी हुए I

कायस्थ खबर से बात करते हुए धीरेन्द्र श्रीवास्तव ने ये भी संकेत दिए थे की जल्द ही कायस्थ वृन्द को लेकर वो नयी घोशनाए भी करेंगे जो समय आने पर उनके उद्देश्यों को एक बार फिर से समाज में  स्थापित करने में सहायक होंगे I ऐसे में कायस्थ समाज को उनकी अगली घोषणाओं का इंतज़ार रहेगा

आप की राय

comments

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 8826511334 पर काल कर सकते है आशु भटनागर सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*