Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » खबर » सोशल मीडिया से दूर पनप रहा कायस्थयुवान,जुड़े प्रशांत करण आईपीएस

सोशल मीडिया से दूर पनप रहा कायस्थयुवान,जुड़े प्रशांत करण आईपीएस

कायस्थ खबर डेस्क I एक तरफ जहाँ कायस्थ समाज के तमाम संगठन फेसबुक और व्हाट्सप्प पर एक दूसरे से होड़ लगाते दिख रहे हैं।
वहीँ दुसरी तरफ नव गठित संगठन कायस्थयुवान खामोशी के साथ विशिष्ठ चेहरों को जोड़ने व युवाओं का साथ लेकर संगठन विस्तार करने के कार्य में लगा हुआ है।

बीते दिनों में कायस्थयुवान के तमाम पदाधिकारी कायस्थयुवान को लेकर सोशल मीडिया पर चुप्पी साधे हुए थे।

आज कायस्थखबर से हुयी बातचीत में संगठन के राष्ट्रीय संयोजक कवि स्वप्निल ने अपनी रणनीति का खुलासा किया।
उन्होंने कहा कि संगठन अब सोशल मीडिया के विवादों को तूल नही देगा।

उन्होंने हमसे बातचीत में कहा कि कायस्थयुवान धरातल का संगठन है तथा धरातल पर निरंतर अपनी जड़ों को मजबूत करने में लगा हुआ है।
संगठन अब तक देश से लगभग डेढ़ सौ युवाओं को सदस्य के रूप में जोड़ने में कामयाब रहा है तथा विभिन्न क्षेत्रों के विशिष्ठ लोग भी संगठन से तेजी से जुड़ रहे हैं।

इसी कड़ी में बिहार कैडर के भारतीय पुलिस सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी प्रशांत करण भी अब कायस्थयुवान का हिस्सा बन गए हैं।
प्रशांत करण वर्ष 2006 और 2013 में राष्ट्रपति पुलिस पदक से भी सम्मानित हो चुके हैं।
प्रशांत करण को कायस्थयुवान की नेशनल वर्किंग कमेटी के सदस्य के रूप में शामिल किया गया है तथा अब वे समाज के युवाओं को मार्गदर्शन देने की दिशा में कार्य करेंगे।

आखिरकार कौन हैं प्रशांत करण-

नाम- प्रशान्त करण,भा0पु0से0(अ0प्रा0)
शिक्षा-स्नातक (विज्ञान) प्रतिष्ठा(स्वर्ण पदक प्राप्त
स्नातकोत्तर(विज्ञान)(विश्वविद्यालय के कीर्तिमान को भंग किया) दोनों बिहार विश्वविद्यालय,मुजफ्फरपुर से
CAIIB,PGCBM(XLRI,जमशेदपुर)
पिता-स्मृतिशेष के0पी0करण
माता-स्मृतिशेष श्यामपति देवी
नौकरी-भारतीय स्टेट बैंक में प्रशिक्षण पदाधिकारी,भारतीय पुलिस सेवा
(हाल में ही अवकाश ग्रहण किया)
अलंकरण-2004 -सराहनीय सेवा के लिए झारखण्ड पुलिस पदक
2006-सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक
2010-सराहनीय सेवा के लिए झारखण्ड पुलिस पदक
2013-विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*