Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » खबर » ABKM श्रीवास्तव गुट में कोई नई नियुक्ति नहीं हुई और ना ही कोई निष्काशन : AK श्रीवास्तव ने कायस्थ समाज से बाहर शादी करने वाली लडकियों और उनके बच्चो को कायस्थ मानने पर उठाये सवाल ?

ABKM श्रीवास्तव गुट में कोई नई नियुक्ति नहीं हुई और ना ही कोई निष्काशन : AK श्रीवास्तव ने कायस्थ समाज से बाहर शादी करने वाली लडकियों और उनके बच्चो को कायस्थ मानने पर उठाये सवाल ?

कायस्थ खबर डेस्क I आज सुबह से उठे तूफ़ान के बाद अखिल भारतीय कायस्थ महासभा (श्रीवास्तव गुट) के राष्ट्रीय अध्यक्ष AK श्रीवास्तव ने समाज में चल रही तमाम अटकलों पर खुल कर बात की I उन्होंने बताया की की मनीष श्रीवास्तव उनकी तरफ से प्रवक्ता है उन्होंने बीते दिनों हुए तमाम तथाकथित नियुक्तियों और निष्काशन की खबरों को भी गलत बताया I उन्होंने सबसे मिलजुल कायस्थ समाज के हित में कार्य करने की भी अपील की I

जबाब में जब अखिल भारतीय कायस्थ महासभा (श्रीवास्तव गुट) के राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष विवेक बाड्मेरी की नियुक्ति के बारे में पूछा गया तो उन्होंने आश्चर्य जताया और इस बारे में अनभिज्ञता जताई I राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष को लेकर उठे सवाल पर उन्होंने इसकी जांच के बाद ही जबाब देने को कहा , उन्होंने अपनी बात रखते हुए कहा की कोर्ट के आदेश अनुसार स्टेटस quo की स्थिति में हम सिर्फ सदस्यों को जोड़ सकते है किसी को ना तो नया पदाधिकारी बना सकते है और ना ही निकाल सकते है I

उन्होंने समाज के हिट में सबको साथ आने को कहा I पत्र को लेकर उठे विवादों में AK श्रीवास्तव अपना पक्ष रखते हुए जहाँ पारिया गुट से सवाल करते नजर आये वही मनीष श्रीवास्तव के कुछ बयानों पर असहज भी दिखे I कायस्थ खबर से बातचीत में उन्होंने स्वीकारा की पिछले कुछ दिनों में समाज के साथ संवाद की स्थिति उनके स्वास्थ्य के चलते थोड़ी कम हुई है लेकिन अब वो जल्द ही इन सब पर आगे आकर काम करेंगे I

कायस्थ समाज से बाहर शादी करने वाली लडकियों और उनके बच्चो को कायस्थ मानने पर उठाये सवाल ?

AK श्रीवास्तव ने सवाल उठाते हुए पूछा की क्या अगर किसी लड़की की शादी गैर कायस्थ से होती है तो उसके बच्चो को कायस्थ माना जा सकता है ? उन्होंने पिछले कुछ वर्षो में इस पर अनेक  लोगो के सवाल उठाने का संदर्भ देते हुए अपनी बात रक्खी I हालाँकि कायस्थ खबर ने जब उन्ही के कार्यकाल में ऐसी महिलाओं की नियुक्तियों पर सवाल किये तो उन्होंने जानकारी ना होने की बात कह कर बात टाल दी I लेकिन जाने अनजाने AK श्रीवास्तव ने एक ऐसे सवाल को हवा दे दी है जिस पर कायस्थ समाज को खुल कर फैसला करना पड़ेगा कायस्थ समाज अपनी राय हमें नीचे कमेन्ट बाक्स में दे सकता है

 

 

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

2 comments

  1. मै(ए0के0श्रीवास्तव जी) के उपरोक्त बात से सहमत हूं और बिल्कुल सही है। यदि कायस्थ बिरादरी की कोई लड़की दूसरे अन्य बिरादरी में शादी कर लेती है तो उसे कायस्थ बिरादरी का बिल्कुल न माना जाय, बिरादरी से बहिष्कृत कर दिया जाय अगर परिवार की सहमति से हुआ है तो पूरे परिवार को । क्योकि यह पुरूष प्रधान देश है और पुरूष का ही जातीय सरनेम चलता है व माना जाता है । हां यदि शादी के पहले या शादी के बाद लड़का मा0 न्यायालय के माध्यम से एफीडेविट देकर अपनी जाति/धर्म और सरनेम बदलकर कायस्थ का रख ले व जाति कायस्थ स्वीकार कर ले । तब उन्हें कायस्थ माना जाय । यह मेरा सुझाव है ।

  2. THERE ARE SO MANY BIG BUSINESS MAN & ICON BUT HOW ABOUT THE RECRUITMENT — ARE THEY APPOINTING KAYASTH YOUTH THOSE ARE ROAMING WITHOUT JOB DUE TO RESERVATION OR RECEPTION INVOLVED IN SELECTION KAYSTH ARE NOT ABLE TO PAY VERY HANDSOME MONEY OR THEY DO NOT HAVE ANY SOURCE —
    WHO WILL HAPPEN MOST OF THE INTERVIEW TABLE / ROOM ARE OCCUPIED BY RESERVATION PEOPLE WHO ARE SELECTED THREW RESERVATION AND THEY GIVE PREFERENCE / PRIORITY TO SC/ ST/ OBC / ONLY KAYSTH COMES OUT WITH OUT JOB . THIS REALY SHAME THAT WE LIVE IN THIS INDEPENDENT COUNTRY — SAB APNE JAT WALON KE BARE ME SOCHTE HAIN PARANTU KAYASTH NAHI SOCHTA — KITNE APPOINTMENT KAYASTHON KO DIYE HAIN IN BUSINESS LOGON NE .. KITNE …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*