Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » खबर » बिहार में राजनैतिक उपेक्षा से एक हो रहे है कायस्थ नेता, क्या बदलेगी फिजा,क्या कैबिनेट विस्तार में मिलेगा कायस्थों को मौका !!

बिहार में राजनैतिक उपेक्षा से एक हो रहे है कायस्थ नेता, क्या बदलेगी फिजा,क्या कैबिनेट विस्तार में मिलेगा कायस्थों को मौका !!

कायस्थखबर ब्यूरो I बिहार ने देश को हमेशा क्रांति की शुरुआत दी है I चाहे वो चंपारण से महात्मा गांधी ने की हो या पटना से जयप्रकाश नारायण ने I लेकिन जय प्रकाश नारायण के नेतृत्व में क्रांति करने वाला कायस्थ समाज ४० सालो में इतना बंट गया की राजनैतिक हाशिये पर आ गया I स्थिति कम टिकट मिलने तक ही सिमटने लगी तो पिछले बिहार चुनावों में कायस्थ नेताओं ने कायस्थ समागम , कायस्थ महाकुम्भ और बुद्धिजीवी सम्मलेन जैसे बड़े कार्यक्रम तक किये I लेकिन शायद चित्रनिंद्रा और जातीय गणित में कम विश्वाश करने वाला कायस्थ समाज को अभी इससे भी बड़ी चोट लगनी बाकी थी I

बदले मोहोल में जब नितीश कुमार ने बीजेपी के साथ मिल कर सरकार बनायी तो अन्य सवर्ण जातियों की तरह कायस्थ समाज के नेताओं ने भी अपने अपने दल से कम से कम १ मंत्री तो बन ही जाने की उम्मीद बना ली थी I हालत तो यहाँ तक थे की राजीव रंजन , डा अजय आलोक और नितिन नवीन तो मंत्री माने ही जा रहे थे I जिसकी पुष्टि सभी बड़े चैनेल कर रहे थे I

लेकिन समय ने कायस्थ समाज को अभी और भी दिन दिखाने थे और वही हुआ बिहार में नितीश सरकार में ३ तो छोडिये १ भी कायस्थ नेता को मंत्री नहीं बनाया गया I जिस पर सबसे पहले मुखर तोर पर भाजपा के ही वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद आर के सिन्हा ने किया I उधर जद यु में भी प्रवक्ता डा अजय आलोक की प्रतिक्रया बहुत जल्दी आई , डॉ अजय आलोक ने निराशा जताई की राजीव रंजन और डा गोपाल सिन्हा दोनों को ही कायस्थ समाज से बहुत वोट मिले थे ऐसे में जद यु कोटे से कम से कम इनमे से कोई तो होता I

ज़रूर पढ़े : तुझसे नाराज नहीं बीजेपी हैरान हूँ मैं, बिहार में कायस्थों की उपेक्षा से परेशान हूँ मैं : सोशल मीडिया पर छलका कायस्थों का दर्द, आर के सिन्हा भी आये साथ

कहते है विनाश के बाद ही सर्जन होता है , कभी सच्चीदानंद सिन्हा की दान की ज़मीन पर जिस बिहार विधान सभा की नीव रक्खी गयी , जहाँ कभी ४० से ज्यदा विधयाक होते थे , वहां आज अगर कायस्थ एक मंत्री पद के लिए भी योग्य ना समझे जाए तो समाज में निराशा होना स्वाभाविक है और उसका प्रतिकार भी I लेकिन इसी उपेक्षा में कायस्थ नेताओं को फिर से एक साथ लाने की तैयारी कर दी है I

कायस्थ खबर को मिली जानकारी के अनुसार बदली परिस्थियों में सभी कायस्थ नेताओं ने राज्य सभा सांसद आर के सिन्हा को कायस्थ समाज के लिए आगे बढ़ कर आवाज़ उठाने के लिए धन्यवाद दिया है और आगे के लिए मार्गदर्शन की अपील की है I वहीं आर के सिन्हा ने भी  राजनीती में कायस्थ समाज के प्रति अपनी प्रतिबधता को दोहराते हुए कहा की की अंतिम सांस तक कायस्थों के लिए लड़ाई लड़ता रहूँगा I

समाज में जिस तरह से पिछले दिनों अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के भी विवादित पक्षों ने अपने मतभेद को भुला कर एक साथ होने का फैसला किया है उससे भी कायस्थ समाज के राजनैतिक भविष्य पर एक उम्मीद जगी है , ऐसे में आर के सिन्हा ने नेतृत्व में बिहार एक बार फिर से एक नयी क्रांति की भूमिका लिखने जा रहा है ये कहना गलत नहीं होगा I

कैबिनेट विस्तार में मिलेगा कायस्थों को मौका

कायस्थ खबर को मिली जानकारी के अनुसार कायस्थ समाज के प्रतिरोध को बीजेपी और जद यु नेताओं ने संघ्याँ में लिया है I ऐसे में उम्मीद की जा रही है की कुछ दिनों में ही होने वाले कैबिनेट विस्तार में कुछ कायस्थों को मौका मिल सकता है I सूत्रो की माने तो बिहार मंत्रिमंडल में अभी भी 7 मंत्रियों के लिए जगह खाली है. जानकारी के मुताबिक बहुत जल्द ही ये सात मंत्री पद भी भर लिए जाएंगे. इसमें 5 जदयू से जबकि 2 NDA से भरे जाएंगे. माना ये जा रहा है कि दोनों दल अगले कैबिनेट विस्तार में इन कमियों को दूर करेंगे ताकि बिना किसी विवाद के सरकार चलती रहे.

ऐसे में एक बार फिर कायस्थों के लिए उम्मीद हो सकती है बशर्ते कायस्थ समाज और इसके नेता ऐसे ही एक हो कर अपना दबाब बनाने में कामयाब रहे

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*