Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » खबर » इलाहबाद में कायस्थ वृन्द का बड़ा सम्मलेन : क्या स्थापित मठाधीशो को दरकिनार कर जुटी भीड़ से बदलेंगे समीकरन ?
कायस्थखबर लाया है आपके व्यक्तिगत/व्यवसायिक पहचान को समाज तक पहुंचा कर सामूहिक लाभ में बदलने की योजना http://kayasthakhabar.com/?p=9033 जानिये कैसे आप अपने व्यवसाय की पहचान कायस्थ समाज के सभी लोगो तक पहुंचा कर लाभ कमा सकते है

इलाहबाद में कायस्थ वृन्द का बड़ा सम्मलेन : क्या स्थापित मठाधीशो को दरकिनार कर जुटी भीड़ से बदलेंगे समीकरन ?

कायस्थ खबर डेस्क I इलाहबाद में २५ दिसंबर का दिन बड़ी खबर लेकर आया , कायस्थ वृन्द की नवनिर्वाचित मुख्यसमन्वायिका डा ज्योति श्रीवास्तव और राष्ट्रीय संयोजक ब्रजेश श्रीवास्तव  के सम्मान में कायस्थ वृन्द से जुड़े जय चित्रांश आन्दोलन के तत्वाधान में शंकर लाल मेमोरियल हाल में इस विचार गोष्ठी एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया I

बैठक में इलाहाबाद के सक्रीय कायस्थ लोगो के कायस्थ वृन्द के बैनर में लोगो ने अपनी बातें रक्खी I  कार्यक्रम संयोजक पूर्व छात्रनेता, के०पी० ट्रस्ट के वर्तमान सहित तीन कार्यकालो में कायस्थ न्यासियो द्वारा निर्वाचित कार्यकारिणी सदस्य एवम् अखिल भारतीय कायस्थ महासभा के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री राजेश श्रीवास्तव  ने सभी आम्नात्रित लोगो को इस कार्यम्रम में यथासंभव अपनी बात रखने का मौका दिया

कार्यक्रम के कायस्थ समाज द्वारा अपने इलाहाबाद से विजयी सभासद रोचक दरबारी (लूकरगंज) व सुनीता श्रीवास्तव (मधवापुर) को सम्मानित किया गया I इस अवसर पर कायस्थ वृन्द की मुख्य समन्वयिका डा. ज्योति ने कायस्थ महिलाओं को हर-हर चित्रगुप्त घर-घर चित्रगुप्त का संदेश दिया, कायस्थ वृन्द के राष्ट्रीय संयोजक श्री वृजेश श्रीवास्तव ने संकल्प लिया कि वह कायस्थों को संगठित कर उन्हे राजनैतिक सशक्त बना कर ही रहेंगे। कानपुर के कायस्थ नेता हरीशंकर श्रीवास्तव भी उपस्थित रहें।

कायस्थ वृन्द के संस्थापक एवं कार्यक्रम संचालक धीरेन्द्र श्रीवास्तव  कायस्थ समाज को चाहिए एक हार्दिक पटेल जो कायस्थ को संगठित कर उन्हें राजनैतिक रूप से सशक्त कर सके अंत में आभार ज्ञापन गोबिन्द खरे ने दिया

आयोजको के अनुसार कार्यक्रम में निम् बातो पर जोर दिया गया

(1) भोजन की किसी प्रकार की व्यवस्था नही थी,
(2) किसी प्रकार का आरकेष्ट्रा अथवा सांस्कृतिक कार्यक्रम की व्यवस्था नही,
(3) किसी भी बड़े कायस्थ के नाम का सहारा नही
(4) छिटपुट बातो (लगभग न के बराबर)के अलावा किसी भी संस्था विशेष अथवा व्यक्ति विशेष की आलोचना अथवा निन्दा नही,
(5) समाज संगठित करने की उत्सुकता,
(6) आगामी विधान परिषद,लोकसभा व विधान सभा चुनावो पर नजर,
(7) होमवर्क करने पर जोर,
(8) विजयी सभासदो श्रीमती सुनीता श्रीवास्तव एवम श्री रोचक दरबारी का सम्मान प्रोत्साहन,
(9) विभिन्न राजनीतिक दलो एवम संस्थाओ से जुड़े कायस्थो की सक्रिय सहभागिता,
(10)आगामी रणनीति हेतु आवश्यक रोडमैप तैयार करने पर बल,
(11) जनपद के लाखो कायस्थो सधन सम्पर्क कर चेतना फैलाने के कार्यक्रम,
(12) सामूहिक नेतृत्व की अवधारणा पर काम करने की इच्छा शक्ति,
(13)मासिक अन्तराल पर विशाल बैठकों का आयोजन कर समीक्षा करना।

कार्यक्रम ने मचाई इलाहबाद में हलचल 

कार्यक्रम के तरीके और स्थापित लोगो के बिना ही हुए इस कार्यक्रम के बाद इलाहबाद में स्थापित मठाधीशो में हलचल मच गयी है , सूत्रों की माने तो कायस्थ पाठशाला की राजनीती में इसको लेकर कई बातें की जा रही है I वर्तमान और पूर्व अध्यक्ष के कैम्पों में चर्चाये हो रही है वही अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की स्थानीय यूनिट में भी इसे लेकर मंथन होने की बातें सामने आ रही है

रंग में भंग पड़ा जब कार्यक्रम संयोजक ने स्थानीय पत्रकार को अंदर बैठने को कहा

कार्यक्रम में आये एक स्थानीय पत्रकार की स्थिति बड़ी अजीब हो गयी जब कार्यक्रम संयोजक राजेशश्रीवास्तव ने उनको कार्यक्रम के बाहर लोगो को अपना अखबार ना बाटने को कहकर अंदर बैठक में बैठने को कहा I हालांकि स्थिति को समझते हुए पत्रकार कुछ बोले नहीं अंदर आकर बैठ गए I

 

 

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है अगर आपको लगता है की कायस्थ खबर समाज हित में कार्य कर रहा है तो  इसे चलाने व् कारपोरेट दबाब और राजनीती से मुक्त रखने हेतु अपना छोटा सा सहयोग 9654531723 पर PAYTM करें I आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*