Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » भड़ास » कायस्‍थ व्रंद तथा जय चित्रांश आंदोलन से उपजे सवाल और जबाब – संजीव सिन्‍हा

कायस्‍थ व्रंद तथा जय चित्रांश आंदोलन से उपजे सवाल और जबाब – संजीव सिन्‍हा

चित्रवंशी बंधुओं, कायस्‍थ एकता, विकास और उत्‍थान के लिए कायस्‍थ व्रंद तथा जय चित्रांश आंदोलन द्वारा चलाये जा रहे प्रयासों में विगत कुछ दिनों से हमारे अपने बंधुओं द्वारा अनावश्‍यक के प्रश्‍नों और तर्को द्वारा बाधायें उत्‍पन्‍न की जा रही है। इसलिए यह जरूरी हो जाता है कि कायस्‍थ वृन्‍द और जय चित्रांश आंदोलन की संकल्‍पना की पृष्‍ठभूमि के बारे में एक बार फिर से सबको अवगत करा दिया जाये। कायस्‍थ वृन्‍द की संकल्‍पना इलाहाबाद के श्री धीरेन्‍द्र श्रीवास्‍तव जी द्वारा बिखरे हुए कायस्‍थ संगठनों को एक मंच पर लाने के उद्येश्‍य से की गयी है। हमारा उद्येश्‍य किसी भी कायस्‍थ संगठन को समाप्‍त करना नहीं है बल्कि हमारा उद्येश्‍य किसी भी कायस्‍थ संगठन का नेतृत्‍व करने वाले नेतृत्‍वकर्ताओं को एक मंच ''कायस्‍थ वृन्‍द'' पर आने के लिए सहमत करना है। कायस्‍थ वृन्‍द की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की प्रथम बैठक मिर्जापुर में हमारे राष्‍ट्रीय संयोजक डा. अरविन्‍द श्रीवास्‍तव के नेतृत्‍व में दिनांक 12.4.15 को संपन्‍न हुयी, जिसमें निम्‍नलिखित 4 बिन्‍दुओं पर कार्य करने का निर्णय लिया गया।
1. समस्‍त कायस्‍थ संगठनों में एकता के लिए कार्य करना। 2. कायस्‍थ युवाओं को स्‍वावलम्‍बी बनाने के लिए स्‍व-रोजगार का सृजन करना 3. दहेज प्रथा के उन्‍मूलन के लिए कार्य करना। 4. समाज के निर्माण में महिलाओं की भूमिका का विस्‍तार करना।
हम उपरोक्‍त चारों उद्येश्‍यों पर कार्य कर रहे हैं परन्‍तु, किसी भी महत्‍वपूर्ण कार्य का परिणाम इतनी जल्‍दी नहीं दिखने लगता, जितना जल्‍दी ह‍मारे कुछ बंधु अपेक्षा कर रहे हैं। इसके अतिरिक्‍त यह भी निर्णय लिया गया कि चूंकि बहुत सारे कायस्‍थ बंधु किसी भी संगठन से नहीं जुडे हैं, उन्‍हें भी साथ लेने के लिए '' जय चित्रांश आंदोलन '' की स्‍थापना की गयी, जिसके अंतर्गत समस्‍त प्रदेशों में प्रदेशवार जय चित्रांश आंदोलन का वॉट्स एप ग्रुप बनाया गया। प्रदेशवार जय चित्रांश आंदोलन का वॉट्स एप ग्रुपों में जुडे बहुत सारे कायस्‍थ बंधुओं द्वारा कायस्‍थों के विकास और उत्‍थान के संबंध में कोई चर्चा न करके, फालतू के जोक्‍स, आरक्षण संबंधी पोस्‍ट, मीडिया पर प्रसारित समाचार आदि पोस्‍ट किया जा रहा है और मना करने पर कुतर्क किया जाता है।
क्‍या इसी प्रकार हम अपने कायस्‍थ समाज का उत्‍थान कर पायेंगे। मेरा प्रश्‍न उन सभी कायस्‍थ बंधुओं से है, जो अनावश्‍यक की पोस्‍ट करते हैं, कि क्‍या कोई भी व्‍यक्ति इतिहास के प्रश्‍न पत्र में गलती से पूछे गये गणित, भौतिक या रसायन विज्ञान के प्रश्‍नों का उत्‍तर देना चाहेगा।
जरुर पढ़े : कायस्थ मित्रों के लिए मेरा यह सन्देश - शैलेश श्रीवास्तव हर प्रकरण का एक मंच होता है, उसे उस संबंधित मंच पर ही उठाया जाना चाहिए, नहीं तो आप फेसबुक पर सक्रिय होकर अपने स्‍वयं के विचार रखें ना कि कट पेस्‍ट वाले विचार रख कर अपनी वाहवाही चाहें। इसलिए मेरा समस्‍त कायस्‍थ बंधुओं से विनम्र निवेदन है कि भगवान चित्रगुप्‍त की संतान के रूप में अपने सभी भाइयों का वास्‍तविक सहयोग करते हुए कायस्‍थ वृन्‍द और जय चित्रांश आंदोलन के कार्यो में सहयोग प्रदान करें। हम अभी नींव तैयार कर रहें है, इमारत की रूपरेखा दिखने में कुछ समय लगेगा, तब तक धैय रखें। धन्‍यवाद। जय चित्रांश। आपका साथी संजीव सिन्‍हा सदस्‍य संचालन मंडल/एडमिन कायस्‍थ वृन्‍द एवं जय चित्रांश आंदोलन मो.नं. 9335721679 / 8400800171 ***************************************** इसी के जबाब मैं हमें मध्य प्रदेश से शैलेश श्रीवास्तव का जबाब प्राप्त हुआ है हम उसे नीचे प्रकाशित कर रहे है , जबाब उनका है , कायस्थ खबर सिर्फ प्रकाशित कर रहा है आगे के के कमेन्ट आप नीचे कमेन्ट बॉक्स मैं दे  सकते है - सम्पादक ***************************************** Mere bade bhai Deerendra ji or bade bhai Sanjeev ji agar apne mujhe group me joda or mere jahij sabalo ka ans diye bina group se remov kr dete ho kyu ki group member mere sabalo se sahmat the apke se nhi es liye ,kya maine group me joks ya apttijanak bhadda post kiya tha kya bataye, aap apni baat sahi sabit nh kr pa rhe the esliye group se remov kr diya , agar aap sabhi sangthano ko ek manch pr lana chahte ho fr aap ne kayastha vrand sangthan kyu banaya, kya apke banaye gaye sangthan se or ek sangthan ki ginti nh badi kya. mera sabhi kayastha banduo se nivedan h sangthan ko nhi ekta ke karya ko mahetub de , koi bhi sangthan nh chaheta ekta ho sirf or sirf sangthan bale apne ghar ki roti shekhte h, kayastha samaj ke loog sangthan ko band karbakar panjaabio ki tarah panchayat ka nirman kare apne bhagvan chitrgupat ji ke mandir se har achhe bure kaam ko arambh kare sangthan se nahi - शैलेश श्रीवास्तव - मध्य प्रदेश

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है अगर आपको लगता है की कायस्थ खबर समाज हित में कार्य कर रहा है तो  इसे चलाने व् कारपोरेट दबाब और राजनीती से मुक्त रखने हेतु अपना छोटा सा सहयोग 9654531723 पर PAYTM करें I आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर