Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » भड़ास » जब कभी भ्रष्टाचार के मामले आते है तो उसमे “कायस्थ” ही फसा दिखाई पडता है – धीरेन्द्र श्रीवास्तव

जब कभी भ्रष्टाचार के मामले आते है तो उसमे “कायस्थ” ही फसा दिखाई पडता है – धीरेन्द्र श्रीवास्तव

मै भ्रष्टाचार के पक्छ मे नही हूँ.शायद कोई भी नही होगा.परन्तु जब कभी ऐसे मामले प्रकाश मे आते है तो उसमे कायस्थ का ही हाथ दिखाई पडता है ,मानो कि कायस्थ से बडा भ्रष्टाचारी कोई नही.जबकि अपने हृदय पर हाथ रखकर सोचिये तो अपने आस पास भ्रष्टाचार करने वाले बहुतायत मे मिलेंगे और इनमे "कायस्थ" शायद ही मिले. गौर करने की बात है कि हमारे बुजुर्गो द्वारा आजादी के बाद के दो-तीन दशक को भारत वर्ष का सुनहरा काल माना जाता रहा है जिसके प्रमुख कारणो मे से एक भ्रष्टाचार का आधुनिक रूप मे विकसित न होना रहा है.विशिष्ट तथ्य है कि इस दौर मे शासकीय सेवाओ मे "कायस्थ"जो अपनी कर्तव्य निष्ठा,ईमानदारी व निरपेक्छता (यहॉ तक कि अपने परिवार,रिश्तेदार एवम बिरादरी का भी पक्छ नही लेते थे बल्कि विरोध भी करते थे,इसीलिये उस समय से लेकर आज तक कहा जाता है कि "लाला ही लाला का पैर काटता है") के लिये प्रसिद्ध बाहुल्यता से थे.देश मे आदर्श व ईमानदारी के अनेक प्रतिमान स्थापित थे. आरक्छण व समय की मार ने "कायस्थ"को शासकीय सेवाओ से दूर कर दिया.परिणामस्वरूप अव्यवस्था और बेईमानी का बोलबाला हम सबके सामने है. ऐसे मे जब कभी भ्रष्टाचार के मामले आते है तो उसमे "कायस्थ" ही फसा दिखाई पडता है. ऐसा केवल और केवल इसलिये होता है कि हमारा कोई "राजनीतिक आका" अपने निरपेक्छ स्वभाव के कारण हमारे ऊपर वर्द्धहस्त नही रखता है. करीब पॉच सात वर्षो के पूर्व की घटना है उत्तर प्रदेश मे एस०पी० स्तर के एक कायस्थ अधिकारी को साजिशन गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था,अनेक जॉच के बावजूद वे निर्दोष साबित हो गये होंगे क्योकि इसी प्रदेश मे वे आज भी अपने पद पर कार्यरत है.ऐसी साजिश उनके साथ क्यो हुयी थी ? बदनामी और अपमान का घूंट उन्हे क्यो पीना पडा? ऐसा इसलिये हुआ या हो रहा है क्योकि हमारे बिरादरी का कोई राजनीतिक आका नही है. बहरहाल भ्रष्टाचारी बचना नही चाहिये और निर्दोष फँसना नही चाहिये. हनुमानगंज,इलाहाबाद(उत्तर प्रदेश) के चौकी प्रभारी श्री दीपक श्रीवास्तव के मामले मे भी लगता है कि साजिश की गयी है. हम उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से सम्पूर्ण प्रकरण की न्यायिक जॉच की मॉग करते है. धीरेन्द्र श्रीवास्तव मुख्य समन्वयक "कायस्थवृन्द" एवम "जय चित्रॉश आन्दोलन"

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है अगर आपको लगता है की कायस्थ खबर समाज हित में कार्य कर रहा है तो  इसे चलाने व् कारपोरेट दबाब और राजनीती से मुक्त रखने हेतु अपना छोटा सा सहयोग 9654531723 पर PAYTM करें I आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर