Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » सोनू निगम जी बधाई, किसी सेलीब्रेटी ने हिम्मत कर आम आदमी की बात तो कही : धीरेन्द्र श्रीवास्तव

सोनू निगम जी बधाई, किसी सेलीब्रेटी ने हिम्मत कर आम आदमी की बात तो कही : धीरेन्द्र श्रीवास्तव

मै सोनू निगम जी के वक्तव्य का समर्थन करता हूँ।आवश्यकता पड़ी तो "कायस्थवृन्द"सोनू निगम जी के वक्तव्य के समर्थन हेतु सघन रणनीति बनायेगा।वे अपने को अकेला न समझे।
दरअसल भारत में धार्मिक अंधविश्वास व तुष्ष्टीकरण का ऐसा वातावरण बना हुआ है जिसे समाप्त करने में समय के साथ बड़े यतन की आवश्यकता होगी।
कट्टरता कितनी भरी हुयी है इस भोगे हुयेे एक उदाहरण के साथ समझा सहजता से समझा जा सकता है।
अखण्ड रामायण का लाउडस्पीकर से वाचन हमारे द्वारा श्रवण हो रहा था जिस पर एक कायस्थ बौद्धिक मित्र की तीखी टिप्पणी कि लोग लाउडस्पीकर से रामायणवाचन कर ध्वनि प्रदूषण फैला रहे है जिस पर वहॉ उपस्थित एक अजीज अलपसंख्यक मित्र ने तत्काल प्रतिक्रिया दी कि "हॉ यार लोग नही समझते है और बच्चो की पढ़ाई व नींद आदि डिस्टर्ब करते रहते है।अरे पूजा पाठ् तो हृदय से करना चाहिये क्या भगवान बहरा है जो आपके दिल की बात नही सुनेगा ?"
दैवयोग से ठीक उसी समय अजान होने पर अपने स्वभाव के अनुसार मैने उनसे पूछ लिया कि ",अब आप क्या कहते है?"
परिणामस्वरूप परस्पर कुतर्को की श्रंखला तो खड़ी हुयी व सम्बन्धो में भी खटास आया।
दशको से हम देखते आ रहे है कि कतिपय राजनीतिक दलो द्वारा भी वोट के जुगाड़ के लिये धार्मिक तुष्टिकरण को गलत तरीके से बढ़ावा दिया जाता रहा है।
ऐसा प्रतीत होता है कि राष्टरहित में "किसी भी प्रकार के तुष्टिकरण" को रोकना आवश्चक हो गया है।
बहरहाल हम सब सोनू निगम जी के साथ है।
आपका अपना
धीरेन्द्र श्रीवास्तव
मुख्य समन्वयक "कायस्थवृन्द'

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*