Home » खबर » कायस्थ खबर परिचर्चा एवं संवाद-2015 – सभी आए एक मंच पर, सबका बदला मिजाज

कायस्थ खबर परिचर्चा एवं संवाद-2015 – सभी आए एक मंच पर, सबका बदला मिजाज

रोहित श्रीवास्तव।। नोएडा के एक्स्पो सेंटर मे रविवार को कायस्थ खबर द्वारा आयोजित ‘कायस्थ खबर परिचर्चा एवं संवाद-2015’ का सफल आयोजन हुआ। महत्वपूर्ण है कि इस तरह का आयोजन शायद ही पिछले कुछ सालो मे हुआ है जहां केवल मुद्दो पर चर्चा की गई हो। कार्यक्रम की शुरुआत श्रीमति अल्पना भटनागर एवं कायस्थ खबर के संपादक श्री आशु भटनागर ने कार्यक्रम मे आए चित्रांशों का परिचय करा कर की।

गौरतलब है कि इस परिचर्चा एवं संवाद मे शामिल होने के लिए काँग्रेस के 20 वर्षो से मथुरा से रहे विधायक चित्रांश श्री प्रदीप माथुर भी पहुंचे जिन्होने चर्चा के दौरान कायस्थों की भारतीय राजनीति मे सोचनीय स्थिति को स्वीकारते हुए आहवाहन किया कि सभी राजनीतिक पार्टियो के ‘कायस्थ नेताओ’ को एक साथ आना होगा, अपनी-अपनी पार्टी मे कायस्थों के लिए टिकट मांगना होगा। श्री माथुर ने कार्यक्रम मे मौजूद अन्य चित्रांशों के प्रश्नो का भी जवाब दिया। इस परिचर्चा मे उनका साथ दे रही श्रीमति नीरा शास्त्री ने कहा कि अब समय आ गया है कि हम अपनी शक्ति को पहचानते हुए राजनीति मे अपने हक़ की लड़ाई लड़े।

इससे पहले कायस्थ विकास परिषद के श्री पंकज भैया, कायस्थ वृंद के श्री धीरेन्द्र श्रीवास्तव एवं डॉ अरविंद श्रीवास्तव, आम आदमी पार्टी से जुड़े संजीव निगम, काँग्रेस से जुड़े सुदर्शन सक्सेना, श्रीमति कविता सक्सेना, श्री राजन श्रीवास्तव, श्री प्रशांत सिन्हा, श्री विपिन भटनागर, श्रीमति माधवी ने विभिन्न विषयो की परिचर्चाओ मे अपने विचार रखें जिनमे कायस्थों की एकता, राजनीति मे सहभागिता और भविष्य की रणनीति से संगलित विषय प्रमुख थे।

इन परिचर्चाओ का संचालन कायस्थ खबर के संपादक श्री आशु भटनागर, सह-संपादक श्री रोहित श्रीवास्तव, श्री धीरेंद्र श्रीवास्तव एवं श्री संदीप श्रीवास्तव ने किया। इस अवसर पर कायस्थ खबर की संयोजिका श्रीमती रुपिका भटनागर और डा रेनू वर्मा ने भगवान् चित्रगुप्त की आरती की

कार्यक्रम के दूसरे खंड मे इस परिचर्चा एवं संवाद के मुख्य अतिथि श्री आर के सिन्हा जी पहुंचे जिन्होने कायस्थों की एकता एवं अन्य समस्याओ से जुड़े मुद्दो पर अपने विचार रखें।  उन्होने “संगत और पंगत’ का जिक्र करते हुए कहा संगत करो..... पंगत करो....... ‘पंथ’ बन जाएगा' । हाल मे पटना मे हुए कायस्थ समागम की सफलता से जुड़े एक प्रश्न का जवाब देते हुए उन्होने कहा “अगर कोई आयोजन नि:स्वार्थ भाव से होता है तो लोग जरूर आते हैं और कार्यक्रम जरूर सफल होता है”। उन्होने व्यापार क्षेत्र मे सलाह के तौर पर कहा कि अक्सर लोगो के इस क्षेत्र मे असफल होने का महत्वपूर्ण कारण यह होता है कि 'वह' बोनस खाने की बजाए ‘कैपिटल-पूंजी’ ही खा जाते है। सामूहिक-विवाह पर बोलते हुए उन्होने कहा पटना और जयपुर मे इसके सफल आयोजन हो रहे हैं, हमे ऐसे आयोजनो को दिल्ली जैसे शहरों मे भी करवाना चाहिए। श्री सिन्हा ने कायस्थ खबर की टीम को इस परिचर्चा के आयोजन के लिए बधाई और शुभकामनाए दी।

कार्यक्रम के अंत मे कायस्थ खबर के संरक्षक और आयोजन समिति मे सबसे वरिष्ठ श्री ए सी भटनागर के समापन भाषण के साथ श्री आशु भटनागर ने कायस्थ खबर की पूरी टीम श्री राजन श्रीवास्तव, श्री संजय श्रीवास्तव, श्रीमति रूपिका भटनागर, श्री संदीप श्रीवास्तव, श्री वी पी श्रीवास्तव, श्रीमति अल्पना भटनागर, डॉ रेणु वर्मा, श्री रोहित श्रीवास्तव, श्री मनोज श्रीवास्तव को मंच पर बुलाकर सम्मानित किया।  श्री भटनागर ने श्रीमति रत्ना सिन्हा का आयोजन कार्यो मे सहयोग देने के लिए आभार जताया।

आप की राय

आप की राय

About कायस्थखबर व्यूरो