Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल

चौपाल

अहोई अष्टमी : माँ रहे बेटी के यहाँ, बेटे की गैरजाती में शादी के बाद माँ बाप की व्यथा, कुसम भटनागर की जुबानी

कायस्थ समाज में अक्सर ये बातें उठती है कि बच्चो की  गैर जाती में शादी क्यूँ हो , गैरजाती की बहु जब घर में आती है तो माँ बाप को बुदापे में क्या गुजरती है I ये स्टोरी गाजियाबाद की कुसुम भटनागर की हैं जो उन्होंने सोशल मीडिया पर उकेरी है I कही सुनी बात है कि माँ के कदमों ...

Read More »

क्या 28 अक्तूबर 2018 को के०पी०ट्रस्ट की गवर्निंग काउन्सिल में कायस्थ हार जायेगा ? धीरेन्द्र श्रीवास्तव

के०पी०ट्रस्ट प्रबन्धन के अध्यक्ष व विभिन्न पदाधिकारियो के गैर बिरादरी प्रेम से कायस्थ समाज भली भाँति परिचित है। छीतपुर व अहीराना बसाने के अलावा इन्हें इन्दू मिश्र व जगन्नाथ यादव जैसे लोग ही मिलते है जिन्हें ट्रस्ट की अनमोल जमीने दे दी जाती है।क्या रूचि होती रही है उन्हे कायस्थो का हक छीन कर गैर कायस्थो को देने की ये तो ...

Read More »

पदलोलुपता के लिए आपसी नफरत और कानूनी मुक़दमेबाजी, बस यही है अखिल भारतीय कायस्थ महासभा की कहानी – आशु भटनागर

आशु भटनागर  I अखिल भारतीय कायस्थ महासभा, इस नाम को सुन कर ऐसा लगता है जैसे ये कोई बहुत विशाल  संस्था हो या कायस्थों के एक बड़े वर्ग का प्रतिनिधित्व करती हो I लेकिन वस्तुस्थिति एक दम उलट है I असल में ८० के दशक में मैनपुरी से पंजीकृत हुई अखिल भारतीय कायस्थ महासभा बस नाम की ही कायस्थों की ...

Read More »

समाजसेवा में किसी की मृत्यु या हत्या भी सेल्फी के साथ प्रचार का माध्यम बन गयी है – अतुल श्रीवास्तव

आज एक खबर पर नजर पड़ी कि गोरखपुर मे किसी कायस्थ बंधु की नृशंस हत्या कर दी गई हमारी तरफ से उन को श्रद्धांजलि.. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे 💐💐 अब आते है खबर पर उसमे दिया था कि फला संगठन के फला फला पदाधिकारी गण उनके अंतिम संस्कार मे संम्लित हुए.. उसको पढकर ऐसा लगा जैसे उस ...

Read More »

डॉक्टर विवेक श्रीवास्तव, चुनाव को पवित्र रखना है यह सभी ट्रस्टीयों का र्धम है – रविन्द्र श्रीवास्तव

डॉक्टर विवेक श्रीवास्तव को जो आने वाले के पी ट्रस्ट के चुनाव में दो बार पराजित होने के बाद तीसरी बार प्रत्याशी के रूप में आ रहे हैं जब उन्हें Facebook से मेरा नाम हटा दिया और तमाम अपने समर्थक जो फर्जी हैं उनके आई कार्ड के नाम पर अपना प्रचार फर्जी फर्जी करा रहे हैं उनको मैं खुली चुनौती ...

Read More »

डा० विवेक श्रीवास्तव आपको राहुल निरखी पहले ही समर्थन का आश्वासन दे चुके थे, फिर आपने स्वयं एक पोस्ट डालकर राहुल निरखी को बिकाऊ साबित करने की कोशिश क्यूँ किया ? डा० विवेक श्रीवास्तव के नाम अभय निरखी का खुला खत,

ट्रस्ट के चुनावो को देखते हुऐ कई लोग राहुल निरखी से मिलकर सहयोग माँग रहे थे इसी सन्दर्भ मे व्यंग्य के तौर पर एक छोटा सा पोस्ट डाल कर मोल तोल की राजनिति को उजागर करने की कोशिश किया । डा० विवेक श्रीवास्तव जिनको राहुल निरखी पहले ही समर्थन का आश्वासन दे चुके थे, ना जाने कैसे इसको मुद्दा बनाकर ...

Read More »

आखिर गोरखपुर से संचालित संगठनों में आपस में लड़ाई ही क्यूँ ?

कायस्थ खबर डेस्क I २ दिन पहले गोरखपुर के किन्ही विजय श्रीवास्तव का फ़ोन आया की भाई साहब आपके यहाँ से गोरखपुर के अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख से सम्बंधित कोई खबर छपी हुई है जिसको लेकर यहाँ गोरखपुर के लोकल व्हाट्सआप ग्रुपों में तमाम वाद विवाद चल रहा है I दूनो ही पक्ष एक दुसरे को नीचा दिखाने  के लिए किये सभी ...

Read More »

आगामी के०पी० ट्स्ट के चुनाव समझिये वोटकटवा उम्मीदवारों का खेल – अभय निरखी

किसी भी चुनाव में कुछ प्रत्याशी केवल वोट काटने के लिये खडे होते है । जबसे ई०वी०एम० मे नोटा आया है तब से यह एक स्थाई वोट कटवा आ गया चुनाव मे, वोटकटवा प्रत्यासीयो को समझना बडा मुश्किल होता है । यहाँ तक कि उसके घनघोर समर्थक भी सालो तक नही समझ पाते है कि जिसके लिये वह रात दिन ...

Read More »

समाज की महिलाओं के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से परेशान किया जा रहा है – ललित सक्सेना

दोस्तों साथियों वैसे तो आजकल कायस्थ समाज में WhatsApp ग्रुप फेसबुक ग्रुप इंस्टा ग्रुप आदि की भरमार है परंतु बड़े ही दुख के साथ आप सभी को यह पोस्ट लिखने को मजबूर हो रहा हूं कि हमारे समाज की महिलाओं के साथ इन WhatsApp और Facebook ग्रुप के माध्यम से क्या किया जा रहा है आज ही एक प्रकरण मेरे ...

Read More »

आखिर अक्षय ओर उसके फूफा पंकज समाज को क्या संदेश देना चाहते है, क्या इसी तरह समाज को कलंकित करते रहेंगे- वेदांत श्रीवास्तव

सोशल मीडिया पर  एक ताजा मामला सामने आया है कायस्थों के व्हाट्सप्प ग्रुप का । जिसमे कायस्थवाहिनी के पदाधिकारी द्वारा नए ग्रुप का निर्माण किया जाता है और उसमे कायस्थ विकास परिषद के लोगो को जबरदस्ती जोड़कर ओर समाज के  अन्य कायस्थ को भी जोड़कर उन्हें बहुत ही अभद्र गाली दी जाती है ये सब कायस्थवहिनी प्रमुख (जो अब नही रहे ...

Read More »