Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल

चौपाल

कायस्थ शिरोमणि आर के सिन्हा पर हुए हमले के मायने, हमले के बहाने!!! सोशल मीडिया पर आक्रोश, विरोध और सेलिब्रेशन के बीच एक बार फिर से कायस्थवाद और हमलावाद को समझने की ज़रूरत है

आक्रोश, विरोध और सेलिब्रेशन !!! कुछ ऐसा ही हुआ जब २ दिन पहले देर शाम बस्ती में कायस्थ शिरोमणि आर के सिन्हा पर एक निर्दलीय प्रत्याशी द्वारा हमले और पथराव की रिपोर्ट दर्ज होने की खबर कायस्थ खबर ने पब्लिश की I कायस्थ समाज का अधिकाँश हिस्सा जहाँ इस अप्रत्याशित खबर से भौंचक्का था और आक्रोश प्रकट कर रहा था ...

Read More »

जोगीरा सा रा रा – कायस्थ समाज में सभी समाज का नेतृत्व करना चाहते है एन केन प्रकारेण सभी मे एक ललक है नेतृत्व की महाराज – अतुल श्रीवास्तव

महाभारत समाप्त हो गया सभी लोग स्वर्ग चले गये और स्वर्ग मे खुश थे कि चलो लड़ाई झगडा ख़त्म चैन से है ।अचानक धृत राष्ट्र अपने सेवक संजय के साथ उपवन मे घूमते घूमते किसी सोच मे खो गये संजय ने उन्हे कई वार आवाज़ दी महराज....महाराज तो अचानक उन्होने चौक कर देखा ।संजय ने पूछा महाराज क्या सोच रहे ...

Read More »

एक संदेश कमल नयन जी के नाम -अतुल श्रीवास्तव

जैसा कि चर्चा से जाना आप एक वरिष्ठ व्यक्ति है ।और आप सम्मान और अपमान की परिभाषा से बखूबी वाकिफ होगे तो आपको समझाने या बताने की आवश्यकता नहीँ है ।किसी को उसकी अनुमति के बगैर पहले ग्रुप मे जोड़ना एवम उसके बाद रिमूव करना एक तरह से उस व्यक्ति का अपमान ही होता है और समाज मे सभी का ...

Read More »

कायस्थ समाज का दुर्भाग्य ये है की सब अपनी अपनी ढपली बजाने में और अपना अपना राग अलापने में लगे हैं – अतुल श्रीवास्तव

हमारे कायस्थ समाज का दुर्भाग्य है कि जो हमारे नेता होने का दम भरते हैं वे ना तो समस्याओं की पहचान करना चाहते हैं और ना उन समस्याओं का निदान चाहते हैं | क्या उन लोगों में सामाजिक जिम्मेदारी की भावना काअभाव है या लोग बेवजह के झंझटों में पड़ना नहीं चाहते? जिस समाज में बड़े बड़े व्यापारी, उद्योगपति, नौकरीपेशा ...

Read More »

आर के सिन्हा के संगत पंगत का हुआ असर सालो बाद सभी पार्टियो में कायस्थों को मिला टिकट – अलोक श्री

समाजसेवी,व्यवसाई,सांसद,कायस्थ रत्न और कायस्थों के रबिनहुड जैसे तमाम पहचानो से परिचित श्री आर के सिन्हा का इस बार असर बीजेपी में दिख रहा है !यूपी चुनाव २०१७ में 6 कायस्थों को टिकट इसको साबित करता है इस बार जिन कायस्थों को टिकट दिया गया है वह निम्नलिखित है 1-रामपुर- श्री शिव कुमार सक्सेना 2- बरेली--श्री अरुण कुमार श्रीवास्तव(विधायक) 3- लखनऊ ...

Read More »

सच तो ये है की मेरठ,गाज़ियाबाद, नॉएडा में एक बार फिर अपने नेताओं की कमी से कायस्थ समाज अपनी राजनैतिक पहचान बनाने का ये मौका चुक गए है – आशु भटनागर

पश्चिम उत्तर प्रदेश की ७५ सीटो पर चुनाव की रनभेदी बज चुकी है I बीते १५ दिनों में प्रचार के समस्त तोर तरीके और और खबरे पड़ने के बाद मैं सिर्फ एक नतीजे पर पहुंचा हूँ I इस पुरे क्षेत्र में कायस्थ समाज की राजनैतिक पहचान शून्य है I कायस्थ खबर ने इसके लिए मेरठ,गाज़ियाबाद, नॉएडा जैसे प्रमुख शहरो में ...

Read More »

मुद्दा : मीटिंग करना, सम्मेलन करना और चुनाव आने पर किसी न किसी पार्टी का दामन थाम कर उसका प्रचार करना, क्या हमारे संगठनों का यही जिम्मेदारी रह गई है – अतुल श्रीवास्तव

अक्‍सर राजनीतिक दलों की निगाहें कहीं औरहोती है और निशाना कहीँ और होता है।लेकिन जब सामाजिक विकास के नाम पर बनी संस्‍थाओं का चालचलन और नीतियॉं भी राजनीतिक पार्टियों के खिलाडियों जैसी हो जायें तो इन संस्‍थाओं के चेहरे और चेहरे के पीछे के भावों पर शक की सुईयॉं घुम ही जातीहै। पूरे देश में कायस्थ के एक, दो, नहीं ...

Read More »

कायस्थ वृन्द की अनोखी मुहीम : मनायेंगे मतदाता दिवस का “त्यौहार” और करेंगे मतदान रुपी “पूजा”

पॉच राज्यो विशेष तौर पर उत्तर प्रदेश के विधान सभा के चुनावो के मतदान का दिन लाखो कायस्थ मतदाताओं द्वारा पावन पर्व के रूप में मनाया जायेगा। विचारधारा के रूप में विख्यात सामूहिक नेतृत्व की अवधारणा "कायस्थवृन्द" परिवार के नियन्त्रणकर्ताओ के पहल पर विभिन्न जागरूक कायस्थ संस्थाओ,सक्रिय कायस्थो, कायस्थ मीडिया पोर्टलो व कायस्थ समाजसेवियो के प्रयास से गुपचुप मतदान करने ...

Read More »

जिस तरह से कायस्थ समाज की अनदेखी हुई है, अखिल भारतीय कायस्थ महासभा इसका बहुत घोर निंदा करती है – मनीष श्रीवास्तव

पूर्वाचंल में कायस्थ समाज के साथ विधानसभा चुनाव में जिस तरह भेदभाव किया गया वो बेहद दुखी करता है। भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से अपील अभी भी समय है आप लोग कायस्थ समाज को उचित प्रतिनिधित्व दे। नहीं तो कही यह विधानसभा भाजपा को ले ना डूबे।यूपी विधानसभा में कायस्थ समाज का लगभग 12 परसेंट वोट है और ...

Read More »

सोच बदले समाज बदलेगा – कायस्थ समाज की संस्थायें एक साथ ढेरों उद्देश्यों कॊ लेकर चलती है जिसके कारण वो अपने किसी भी उद्देश्य कॊ पूर्ण नहीँ कर पाती- अतुल श्रीवास्तव

मित्रों आजकल हमारे समाज की संस्थायें एक साथ ढेरों उद्देश्यों कॊ लेकर चलती है जिसके कारण वो अपने किसी भी उद्देश्य कॊ पूर्ण नहीँ कर पाती है। यदि हर संस्था एक उद्देश्य और एकाग्रचित्त होकर कार्य करे तो अपने उद्देश्यों कॊ आसानी से प्राप्त कर सकती है ।बहुउद्देशीय होने के कारण वो अपने पथ से विचलित हो जाती है ।इस ...

Read More »