Home » चौपाल » भड़ास » सबक : जब आप एक होते हो तो सरकारे क्या कायनात झुक जाती है- आशु भटनागर

सबक : जब आप एक होते हो तो सरकारे क्या कायनात झुक जाती है- आशु भटनागर

बुधवार की शाम कायस्थ समाज के लिए एक ख़ुशी का सन्देश लेकर आई I हमीरपुर (विम्वार ) निर्भया काण्ड  के लिए संघेर्षरत कायस्थ समाज की कई मांगो के साथ उनकी प्रमुख मांग "केस की सीबीआई जंग  " को चौतरफा दबाब मे मान लिया गया और यूपी के मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से इसकी संतुति कर दी I यू तो  ये ख़ुशी मनाने का दिन है उन सभी के लिए जो इसमें किसी भी तरह से जुड़े थे और कार्य करा रहे थे मगर फिर कायस्थखबर ने एक विश्लेषण करने का निर्णय लिया की आखिर  कुम्भकरण की तरह सोया कायस्थ समाज अचानक नींद से जाग कर इतनी सफलता कैसे हासिल कर गया ? ऐसा क्या हुआ की जो कभी एक दुसरे के साथ ना आने के कुख्यात थे वो सडको पर इसके खिलाफ मशाल लेकर उतर पड़े I बिखरे हालात ने किया एक  देश मे कायस्थों के बिखरे हालात ने भी कायस्थ समाज को एक करने मे एक बड़ी भूमिका निभाई I सब जानते थे की कायस्थ समाज अपने स्वार्थी नेताओं के चलते ही इस हालात मे आया था I ऐसे मे गौरी हत्याकांड और सपना मर्डर केस जैसे घटनाओं ने समाज के युवा नेताओं और अनुभवी समाजसेविओ को वापस इस दिशा मे सोचने पर मजबूर किया I जो कायस्थ सिर्फ नौकरी करने और हालत को अपनी नियति मान बैठा था इन घटनाओं से कुंठित भी हुआ और भयभीत भी I ऐसे मे २५ जुलाई को हमीर जिले के विम्वार मे हुई इस अप्रत्याशित घटना पर यूपी सरकार की लीपा पोती ने कायस्थ समाज को सडको पर उतरने पर मजबूर कर दिया I कायस्थ समाज के इतिहास मे पहली बार किसी घटना के लिए यूपी समेत 6 प्रदेशो मे कैंडल मार्च विरोध प्रदर्शन किये गये  जिनमे दिल्ली के जंतर मंतर पर किया प्रदर्शन अभूतपूर्व रहा और लोगो को एक करने और अपनी आवाज़ उठाने और कायस्थ समाज सरकार को सन्देश देने मे कामयाब भी रहा कुशल नेत्रत्व ने बदले हालात  बीते कई महीनो से कायस्थ समाज मे एक उथल पुथल का दौर था , स्थापित नेताओं के अनुभवों के फेल होते दावो का दौर था I कायस्थ नेताओं ने सिर्फ नाच गाने के हास्य और फूहड़ कार्यक्रम को कायस्थ समाज के लिए एक्शन मान लिया था , कायस्थ समाज के साथ हुए लखनऊ के गौरी हत्याकांड और भोपाल के सपना मर्डर केस जैसे केसों मे इसी नाकाम एक्शन ने कायस्थ समाज ने रिअक्शन का दौर आ रहा था I कुछ पुराने दबे नेता जो इनकी राजनीती से परेशान हो कर एक तरफ बैठ गये वो वापस समाज के लिए कुछ करने की सोचने लगे I इसी के साथ कुछ नई आवाज़े भी उठनी शुरू हुई जिन्होंने पिछले कुछ महीनो मे कायस्थ समाज को सोशल मीडिया पर एक राह दिखाई I ऐसे मे बिजनेसमैन से राजनेता बने देश की सबसे बड़ी सिक्योरिटी कम्पनी SIS के मालिक और राज्यसभा सांसद श्री आर के सिन्हा जी ने भी पारंपरिक बन्धनों को तोड़ कर आगे आकर सोशल मीडिया के जरिये सीधे युवा कायस्थों से संवाद करना शुरू किया I गिनती के लोगो से बाहर निकल कर जब उनका अनुभव अनगिनत युवा और अनुभवी लोगो की इन नई टीम से हुआ तो समाज मे कायस्थखबर "परिचर्चा एवं संवाद और "कायस्थ समागम  जैसे विचारों का तूफ़ान उठा जिसने अंतत संगत और पंगत का स्थाई रूप लिया I और कायस्थ समाज को एक नई दिशा निकल कर सामने आये नये और कुछ विलीन होते चहरे  ये पहली बार हुआ की इस संघेर्ष मे श्री आर के सिन्हा जी और श्रीमती नीरा शास्त्री जी के साथ कई नये और पुराने चेहरे निकल कर सामने आये , जिसमे नॉएडा चित्रगुप्त सभा के श्री राजन श्रीवास्तव , लखनऊ से श्री पंकज भैया, श्री विनोद बिहारी वर्मा , कानपुर से श्री मयंक श्रीवास्तव , श्री प्रदीप सिन्हा , युवा नेता श्री पवन सक्सेना , इलाहाबाद से श्री धीरेन्द्र श्रीवास्तव , नॉएडा से श्री आशु भटनागर( कायस्थखबर ) , रोहतक से डा हर्ष कुलश्रेष्ठ , दिल्ली से श्री मनोज श्रीवास्तव, श्री विवेक चंद्रा एडवोकेट  , रांची झारखंड से श्री MBB सिन्हा , पटना से श्री पाण्डेय अखिलेश कुमार , मिर्ज़ापुर से श्री आलोक श्रीवास्तव , पटना से ही ABKM के श्री राजीव रंजन , नॉएडा से श्री संजीव निगम (AAP प्रवक्ता ), श्री संजय श्रीवास्तव "नाटी", श्री अजीत प्रधान , श्री मनीष श्रीवास्तव , दिल्ली से श्री रजनीश रायजादा , श्री दिवाकर सिन्हा ,श्री शरद जोहरी , श्री सुशांत श्रीवास्तव , सहसवान से श्री निशांत सक्सेना  जैसे अनगिनत नाम सामने आये जिहोने कायस्थ समाज के लिए अपनी उपस्तिथि दर्ज कराई महिलाओं मे श्रीमती नीरा शास्त्री के सानिध्य मे नॉएडा से डा रेनू वर्मा , श्रीमती नीति श्रीवास्तव , श्रीमती माधवी देवा , लखनऊ से चित्रांशी अनीता सक्सेना , श्रीमती किरण श्रीवास्तव , रोहतक से श्रीमती रेखा भटनागर जैसे नये नामो ने कायस्थ समाज की महिलाओं के लिए नई राह खोली है जो कायस्थ समाज की महिला राजनीती को ने दिशा देने मे समर्थ होंगी आखिर इसके बाद क्या ? ये कोई अंत नहीं है , ये एक शुरूआत है जिसको श्री आर के सिन्हा जी मार्गदर्शन मे अभी आगे जाना है I हर महीने संगत और पंगत के जरिये कायस्थों को एक करने का प्रयास शुरू हुआ है उसने कायस्थ समाज को नये परिणाम देने शुरू कर दिए है I अगर एकता की इसी डोरी से सभी लोग बंधे रहे तो निश्चित ही कायस्थ समाज की किसी भी महिला या पुरुष की और लोगो की गलत निगाह उठाना असंभव हो जाएगा I आशु भटनागर   

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है अगर आपको लगता है की कायस्थ खबर समाज हित में कार्य कर रहा है तो  इसे चलाने व् कारपोरेट दबाब और राजनीती से मुक्त रखने हेतु अपना छोटा सा सहयोग 9654531723 पर PAYTM करें I आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर