Check the settings
Templates by BIGtheme NET
Home » चौपाल » भड़ास » असर: क्या कायस्थ एकता पर आर के सिन्हा की कोशिश रंग ला रही हैं ?

असर: क्या कायस्थ एकता पर आर के सिन्हा की कोशिश रंग ला रही हैं ?

यू तो बरसो से कई कायस्थ संगठनो ने कायस्थ एकता और उनके उत्थान का बीड़ा उठाया हुआ था और कई लोगो ने इस सिलसिले मे गाहे बगाहे अपने वर्षो के अनुभवों के गुणगान भी किये है I मगर वो सब बातें थी बातों तक ही सीमित रही और समाज इन नेताओं से कटता भी रहा और एकाकी भी हुआ I पिछले 6 महीनो से श्री आर के सिन्हा के खुल कर कायस्थों के सीधे संपर्क और संवाद करने की अद्भुद शैली ने कायस्थ समाज मे बड़ा परिवर्तन आ रहा है I कल तक कायस्थ संगठनो और उनके लोगो से दूर भागने वाले लोग आज एक दुसरे के साथ मिल रहे है उनके लिए काम कर रहे है I कायस्थ एकता की बातें अब सार्थक होने लगी है कायस्थ खबर को ऐसे कई उदाहरण मिल रहे हैं जहाँ लोग सिर्फ कायस्थ होने के नाते दुसरे कायस्थ की मदद कर रहे है बिहार के अभिषेक श्रीवास्तव का उदाहरण ही ले वो लिखते है की किसी कांट्रेक्ट मे योग्यता के साथ साथ उनका कायस्थ होना भी उनके फेवर मे गया और उन्हें वो कांट्रेक्ट आसानी से मिल गया I वस्तुत ये श्री आर के सिन्हा कर्मशील नेत्रत्त्व की भी सफलता है जिसको लोग आत्मसात भी कर रहे है श्री सिन्हा से मिलने वाला हर व्यक्ति उनसे प्रभावित होकर दुसरे कायस्थ के हित की बात सोचने लगता है I समाज के हित के लिए काम करने लगता है I नॉएडा के श्री राजन श्रीवास्तव भी इसी क्रम मे कायस्थों के हित के लिए कई कामो मे लगे है कायस्थ खबर को उन्होंने बताया की श्री सिन्हा का व्यक्तित्व लोगो को ऐसे कार्य करने के लिए प्रेरित करता है वो नॉएडा मे भगवान् श्री चित्रगुप्त के मूर्ति स्थापना के समय हुए अनुभव को बताते हुए कहते है की श्री सिन्हा से आशीर्वाद ले उन्होंने जब ये काम शुरू किया तो शुरू मे कुछ कठिनाई ज़रूर आयी मगर श्री सिन्हा के हौसले और भगवान् चित्रगुप्त के आशीर्वाद से सब कुछ आसानी से हो गया I इसी क्रम मे जब आर के सिन्हा ने संगत और पंगत करने का फैसला किया तो शुरू मे लोगो ये सिर्फ एक मिलने जुलने का कार्यक्रम भर लगा मगर सिर्फ 2 ही संगत और पंगत के बाद इससे जुड़े लोगो ने जिस तरह से कायस्थ समाज के जरुरत मंद लोगो के लिए आगे बढ़ कर काम किये वो अपने आप मे मिसाल हो गयी है I कायस्थ खबर खुद इन सभी घटनाओं और उनके परिणामो का साक्षी रहा की आर के सिन्हा की पहल पर किस तरह लोग अनजान बीमार कायस्थ भाइयो के इलाज लिए जुड़े और उनको ना केवल बेहतर इलाज की वयवस्था की बल्कि उनके लिए पैसो के भी इंतजाम किये I स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं को निर्देशित कर रही डा रेनू वर्मा और उनके पति डा अतुल वर्मा श्री सिन्हा की तारीफ़ करते हुए कहते है की वो पिछले २० सालो से कायस्थ संगठनो के काम काज को देख रही थी मगर किसी को भी देख कर उनमे उनके साथ जुड़ने की इच्छा नहीं हुई I मगर संगत और पंगत के माध्यम से श्री सिन्हा से मिलने के बाद उन्होंने जो सकारात्मक उर्जा महसूस हुई उसी के कारण वो इन सब कार्यो को सफलता से अंजाम दे सकी I स्वतंत्र लेखन से जुड़े श्री रोहित श्रीवास्तव इन्ही बातो को आगे बढाते हुए कहते है की श्री सिन्हा का मार्गदर्शन और अमूल्य अभुभवरूपी ज्ञान हम सभी को इसी तरह मिलता रहे यही कामना है। वास्तव में जब भी आप कोई सन्देश देते हैं तो मन अपने आप में 'जीवित' हो उठता है। श्री सिन्हा खुद इन सारी बातो का श्रेय भगवान् चित्रगुप्त को देते हुए कहते है कि उनकी हमेशा से एक ही सोच रही की अगर एक सक्षम कायस्थ एक अक्षम कायस्थ का हाथ पकड़ ले तो समाज को किसी के सहारे की ज़रूरत नहीं रह जायेगी I बस इसी बात को प्रतिदिन वो याद रखते है और कोशिश करते है किसी भी तरह से वो हर रोज एक कायस्थ को आगे बढ़ा सके

आप की राय

आप की राय

About कायस्थ खबर

कायस्थ खबर(http://kayasthakhabar.com) एक प्रयास है कायस्थ समाज की सभी छोटी से छोटी उपलब्धियो , परेशानिओ को एक मंच देने का ताकि सभी लोग इनसे परिचित हो सके I इसमें आप सभी हमारे साथ जुड़ सकते है , अपनी रचनाये , खबरे , कहानियां , इतिहास से जुडी बातें हमे हमारे मेल ID kayasthakhabar@gmail.com पर भेज सकते है या फिर हमे 7011230466 पर काल कर सकते है अगर आपको लगता है की कायस्थ खबर समाज हित में कार्य कर रहा है तो  इसे चलाने व् कारपोरेट दबाब और राजनीती से मुक्त रखने हेतु अपना छोटा सा सहयोग 9654531723 पर PAYTM करें I आशु भटनागर प्रबंध सम्पादक कायस्थ खबर